ऊर्जा मंत्री ने टाटा के अधिकारियों को लगाई फटकार

  • ग्राउंड जीरो पर लिया वस्तुस्थिति का जायजा

मुंबई. मुंबई की आईलेंडिंग सिस्टम फेल होने की वजह से पिछले 12 अक्टूबर को मुंबई और एमएमआर क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति ठप हो गई थी. जिसको लेकर ऊर्जा मंत्री डॉ.नीतिन राउत ने सोमवार को अधिकारियों के साथ वस्तुस्थिति का जायजा लिया. उन्होंने टाटा विद्युत कंपनी के अधिकारियों को जम कर फटकार भी लगाई. 

ऊर्जा मंत्री डॉ. राउत ने महाराष्ट्र को अखंडित विद्युत आपूर्ति करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले राज्य भार प्रेषण केंद्र (एसएलडीसी) ऐरोली का दौरा कर काम काज कैसे होता है इसका जायजा ग्राउंड जीरो पर लिया. इस अवसर पर टाटा विद्युत कंपनी के अधिकारियों ने उनके समक्ष प्रजेंटेशन किया. अधिकारियों ने मंत्री को यह बताने का प्रयास किया कि मुंबई आईलेंडिंग सिस्टम किस तरह काम करता है और 12 अक्टूबर को किस तरह की घटना हुई. 

यदि गलती हुई है तो उसे स्वीकार करने की जरुरत  

ऊर्जा मंत्री डॉ.नीतिन राउत ने कहा कि मुंबई का आईलेंडिंग करना और बाहर से मुंबई को विद्युत आपूर्ति ठप होने पर मुंबई शहर को अतिरिक्त बिजली आपूर्ति की जिम्मेदारी कंपनी की है. आप सभी अपनी गलती को क्यों छुपा रहे हैं? यदि गलती हुई है तो उसे स्वीकार करने की जरुरत है. राउत ने कहा कि यदि मुंबई में संसद होती और प्रधानमंत्री के बोलते समय बिजली सप्लाई ठप हुई होती तब भी इसी तरह का उत्तर देते क्या? अधिकारियों के साथ बैठक में ऊर्जा मंत्री डॉ. राउत के साथ ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव असीम गुप्ता, महापारेषण के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक दिनेश वाघमारे, महापारेषण निदेशक संजय ताकसांडे, तकनीकी सलाहकार उत्तम झाल्टे सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे.