RTE

    मुंबई. शिक्षा का अधिकार अधिनियम (Right to Education Act) के तहत निजी स्कूलों में आरक्षित (Reserved) 25 फीसदी सीटों में काफी सीटें रिक्त पड़ी हैं। प्रवेश के लिए दूसरी समय सीमा 9 जुलाई को समाप्त हो गई है, लेकिन अब भी 96 हजार 668 सीटों में से 50 हजार सीटें खाली हैं।  इसलिए स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) ने एक बार फिर समय सीमा 23 जुलाई तक बढ़ा दी है।
     

    राज्य के अधिकांश निजी स्कूलों में आरटीई प्रवेश पर रोक लगा दी गई क्योंकि स्कूल शिक्षा विभाग ने आरटीई शिक्षा के लिए वार्षिक शुल्क कम कर दिया।  इसीलिए प्रदेश के 9 हजार 532 स्कूलों की 96 हजार 668 सीटों में से 46 हजार 300 सीटों पर ही दाखिला हुआ है। शेष 59,368 सीटें खाली हैं।

     
     
    मुंबई की 6 हजार 463 सीटों में से सिर्फ 2 हजार 470 सीटों पर ही एडमिशन कंफर्म हुआ है।  राज्य में ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के स्कूलों से बड़ी संख्या में आरटीई प्रवेश को नकारा जा रहा है।