शिक्षकों को मिली लोकल में यात्रा की इजाजत, रेल मंत्रालय की हरी झंडी

मुंबई. स्कूलों के शिक्षकों और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को मुंबई लोकल में यात्रा की इजाजत दे दी गई है. कोरोनो के कम होते संक्रमण के बीच राज्य में स्कूल कॉलेज शुरू किए जाने का निर्णय लिया गया  है. शिक्षकों और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को लोकल ट्रेन में यात्रा की इजाजत के लिए राज्य सरकार ने रेल प्रशासन को पत्र लिखा था. 

शुक्रवार को मध्य और पश्चिम रेलवे ने सयुंक्त बयान जारी कर कहा कि रेल मंत्रालय ने मुंबई लोकल में यात्रा के लिए शिक्षकों को तत्काल प्रभाव से इजाजत दे दी है. दीपावली बाद स्कूलों को 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खोलने की तैयारी की गई है, ऐसे में शिक्षकों और अन्य स्कूली कर्मचारियों की सुविधा के लिए लोकल में यात्रा की परमिशन का निर्णय लिया गया है. 

आम लोगों को अभी यात्रा की इजाजत नहीं दी गई

मुंबई में इस समय लगभग 90 प्रतिशत लोकल सर्विस चलाई जा रही है, लेकिन आम लोगों को अभी यात्रा की इजाजत नहीं दी गई है. मध्य व पश्चिम रेलवे पर चल रहीं  2773 लोकल फेरियों के माध्यम से रोजाना लगभग 12 लाख नामित लोग यात्रा कर रहें हैं. इनमें मध्य रेलवे पर 1572  पश्चिम रेलवे पर 1201 सर्विसेज चल रहीं हैं. मध्य रेलवे के सीपीआरओ शिवाजी सुतार के अनुसार, अत्यावश्यक कर्मचारियों, नॉन पीक ऑवर में महिलाओं और अन्य नामित यात्रियों के अलावा अब शिक्षकों को भी कोविड-19 के प्रोटोकॉल के अनुसार लोकल में यात्रा की इजाजत दी गई है. वैध आईकार्ड के साथ शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मचारी मुंबई लोकल में यात्रा कर सकेंगे.