Airport passengers Corona

  • 92 की एयरपोर्ट पर हुई जांच
  • 585 यात्री पहुंचे नागपुर
  • 07 उड़ानों की हुई लैंडिंग

नागपुर. कोरोना की दूसरी लहर को लेकर जताई गई आशंका की तरह भले ही वर्तमान में परिवर्तन दिखाई नहीं दे रहा हो, लेकिन निश्चित ही दिन-ब-दिन बाधितों की संख्या में वृद्धि दिखाई दे रही है. इसके बावजूद स्थिति को नियंत्रित रखने के लिए जारी किए गए निर्देशों का पालन होता दिखाई नहीं दे रहा है. इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि दिल्ली और अहमदाबाद से आई कुल 7 उड़ानों में 92 यात्रियों की जांच ही नहीं हुई थी, जबकि हवाई यात्रा से पूर्व कोरोना की टेस्ट कर निगेटिव रिपोर्ट प्रेषित करना जरूरी थी. इन 92 लोगों में 2 यात्री पॉजिटिव भी पाए जाने से प्रशासन में खलबली मची हुई है.

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार की ओर से विशेष रूप से दिल्ली, राजस्थान, गुजरात और गोवा से राज्य में आनेवाले लोगों की जांच के बाद ही उन्हें प्रवेश देने की हिदायत रेल विभाग, एयरपोर्ट और सड़क मार्ग से प्रवेश पर सतर्कता बरतने के निर्देश संबंधितों को जारी किए गए थे.

यात्रा से पहले क्यों नहीं हो रहा टेस्ट

अधिकारियों का मानना है कि न केवल एयरपोर्ट बल्कि रेलवे स्टेशन पर भी अब कोरोना की जांच किए बिना ही यात्रा होने के मामले लगातार उजागर हो रहे हैं, जबकि स्पष्ट रूप से पहले कोरोना टेस्ट कराने तथा निगेटिव रिपोर्ट होने पर ही आगे की यात्रा की अनुमति देने के निर्देश जारी किए गए हैं. हालांकि एहतियात के तौर पर नागपुर एयरपोर्ट और स्टेशन पर यात्रियों की कोरोना जांच की व्यवस्था की गई है, किंतु इस तरह की व्यवस्था अन्य जगहों पर हुई है या नहीं. इस पर असमंजस की स्थिति है. संभवत: अन्य स्थानों पर इस तरह की व्यवस्था नहीं होने के कारण ही नागपुर हवाई अड्डे और स्टेशन पर आ रहे यात्रियों के पास रिपोर्ट नहीं होने के मामले उजागर हो रहे हैं. यात्रा शुरू होने से पहले टेस्ट क्यों नहीं किया जा रहा, यह समझ से परे है. इससे अन्य यात्रियों के बाधित होने की प्रबल संभावना होने की जानकारी भी सूत्रों ने दी.

15 का कराया गया एन्टीजन टेस्ट

एयरपोर्ट की तरह नागपुर रेलवे स्टेशन पर भी बिना कोरोना टेस्ट कराए कुछ यात्रियों के पहुंचने के मामले उजागर हुए. स्टेशन पर पहुंचीं कुल 10 ट्रेनों के 1,775 यात्रियों की स्क्रीनिंग कराई गई, जिसमें कुछ यात्रियों के पास कोरोना जांच की रिपोर्ट नहीं होने तथा उनमें लक्षण होने की संभावना के चलते 15 लोगों का स्टेशन पर एन्टीजन टेस्ट कराया गया. किंतु संतोषजनक यह रहा कि सभी की रिपोर्ट निगेटिव पाई गई.