40 oxygen plants to be set up, 37 metric tons of oxygen will be found every day

    नाशिक. कोरोना (Corona) की पृष्ठभूमि में पैदा हुई ऑक्सीजन की कमी (Lack of Oxygen) की समस्या के समाधान के लिए जिले में 40 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित किए जा रहे हैं। यह परियोजना प्रतिदिन 37 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्रदान करेगी। पालक मंत्री छगन भुजबल (Guardian Minister Chhagan Bhujbal) का कहना है कि जिला प्रशासन ने इस परियोजना के माध्यम से ऑक्सीजन (Oxygen) में आत्मनिर्भरता की दिशा में एक कदम उठाया है। 

    जिला सामान्य अस्पताल में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट का उद्घाटन पालकमंत्री छगन भुजबल के हाथों किया गया। कार्यक्रम में पूर्व सांसद समीर भुजबल, जिलाधिकारी सूरज मांढरे, महानगरपालिका कमिश्नर कैलाश जाधव, पुलिस कमिश्नर दीपक पाण्डेय, स्वास्थ सेवा उपसंचालक डॉ. पी.डी. गांडाल, जिला शल्य चिकित्सक डॉ. अशोक थोरात, अतिरिक्त जिला शल्य चिकित्सक डॉ. किशोर श्रीवास, निवासी चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रशांत खैरे, चिकित्सा अधिकारी डॉ. निखिल सैंदाणे, नोडल अधिकारी डॉ. अनंत पवार उपस्थित रहे।

    225 जंबो सिलेंडर प्रतिदिन भरने की होगी क्षमता

    पालक मंत्री छगन भुजबल ने कहा कि जिला सामान्य अस्पताल में स्थापित ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट से अस्पताल की ऑक्सीजन क्षमता 10 केएल बढ़ जाएगी। साथ ही जिला सामान्य अस्पताल की आंतरिक ऑक्सीजन क्षमता 20 केएल है। नए बने इस प्लांट से जिला अस्पताल की क्षमता बढ़कर 30 किलोलीटर हो गई है। भुजबल ने कहा कि संयंत्र का उपयोग नए विस्तारित 150 बेड के पूरक के रूप में किया जाएगा। जिला सामान्य अस्पताल में ऑक्सीजन प्रोजेक्ट डीपीडीसी के माध्यम से बनाया गया है। इस परियोजना में प्रतिदिन 225 जंबो सिलेंडर भरने की क्षमता होगी। साथ ही प्रत्येक उप-जिला अस्पताल में बनने वाले ऑक्सीजन प्लांट की क्षमता 125 सिलेंडर प्रतिदिन और ग्रामीण अस्पतालों में प्रतिदिन 60 से 70 जंबो सिलेंडर ऑक्सीजन का उत्पादन होगा।

    जून के अंत तक चालू हो जाएंगे संयंत्र

    नाशिक में उद्योग विभाग द्वारा 70 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उत्पादन के लिए एक बड़ी परियोजना प्रस्तावित है, यह जानकारी भी मंत्री छगन भुजबल ने दी। नाशिक जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में स्थायी ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए सरकारी और नगर निगम के अस्पतालों में 40 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित किए जाएंगे। इसमें 24 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र जिला योजना समिति के माध्यम से, 4 केंद्र सरकार की ओर से, 4 एचएएल और भारत सुरक्षा प्रेस सीएसआर फंड के माध्यम से, 6 नाशिक महानगरपालिका के माध्यम से और 2 मालेगांव मनपा के माध्यम से कुल 40 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों के साथ बनाए जाएंगे। पालक मंत्री छगन भुजबल ने कहा कि ये सभी ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र जून के अंत तक चालू हो जाएंगे।

    इन जगहों पर होंगे ऑक्सीजन प्लांट

    जिला जनरल अस्पताल, उप जिला अस्पताल येवला, मनमाड़, कलवण, चांदवड़, ग्रामीण अस्पताल पिंपलगांव बसवंत, इगतपुरी, सिन्नर, अभोणा, वणी, दिंडोरी, बारहे, घोटी, गिरणारे, हरसूल, निफाड़, नगरसूल, लासलगांव, देवला, उमराणे, सटाणा, नामपूर, मालेगांव जनरल अस्पताल और महिला अस्पताल इन 24 जगहों पर जिला वार्षिक योजना के माध्यम से ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट निर्माण होंगे। साथ ही केंद्र सरकार की निधि से नांदगांव, दाभाडी, पेठ सुरगाणा इन 4 शहरों में वहीं प्रेस के सीएसआर फंड से दोडी और त्र्यंबकेश्वर, गिरणारे, डांगसौंदाण में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट निर्माण हो रहे हैं। यह सूचना भी पालकमंत्री छगन भुजबल ने दी।