ST BUS

    मनमाड़. बीते साल की तरह इस साल भी कोरोना (Corona) ने देश में हाहाकार मचा दिया है। इस साल तो शहरों के साथ-साथ छोटे-छोटे गांव, बस्तियों में कोरोना जा पहुंचा है। कोरोना का असर एसटी बस (ST Bus) यातायात पर भी होने लगा है। डर के मारे लोग एसटी बस से सफ़र करने में कतराने लगे है, जिसके कारण मनमाड़ एसटी डिपो (Manmad ST Depot) में से रोजाना छोड़ी जाने वाली 66 बसों में से 56 बस बंद कर दी गयी है। 

    अब केवल 5 एसटी बस शुरू है, वही लंबी दूरी तथा अन्य राज्यों से अवागमन होने वाली 216 एसटी भी बंद की गयी है। इतने बड़े पैमाने पर एसटी बस बंद होने के कारण प्रति दिन करीब 5 से 6 लाख रूपए का मिलने वाला राजस्व बंद हो गया है। इनकम बंद होने के कारण आने वाले दिनों में वेतन मिलेगा या नहीं इसकी चिंता एसटी कर्मियों को सताने लगी है।

    यात्रा करने से कतरा रहे लोग

    गौरतलब हो कि इस समय समूचा देश कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहा है। दूसरी लहर इतनी खतरनाक है कि उसने सभी जगह पर कोहराम मचा रखा है आये दिन बड़े पैमाने पर कोरोना संक्रमित मरीज पाये जा रहे हैं। कोरोना छोटे-छोटे गांवों तक जा पहुंचा है वहां मरीजों के साथ-साथ मरने वालों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है जिसके कारण लोगों में डर एवं खौफ का माहौल उत्पन्न हो गया है। लोग अब सफर करने से कतरा रहे है।

    66 से 56 एसटी बस बंद

    मनमाड़ डिपो में से रोजाना 66 एसटी बस चलायी जाती है वही लंबी दूरी तथा अन्य राज्यों से भी रोजाना करीब 216 एसटी बसों का अवागमन होता है जिसके कारण रेलवे स्टेशन की तरह मनमाड़ का एसटी स्टैंड पर भी यात्रियों की भीड़ होती थी लेकिन कोरोना के बढ़ते कहर के चलते डर के मारे लोग एसटी से सफ़र नहीं कर रहे है जिसके कारण 66 से 56 एसटी बंद करने की नौबत एसटी महामंडल प्रशासन पर आई है।

    लंबी दूरी के लिए उपलब्ध नहीं है कोई बस

    वहीं, लंबी दूरी और अन्य राज्यों से आने-जाने वाली बस भी लगभग बंद हो गयी है। इन सभी के कारण मनमाड़ एसटी डिपो को रोजाना 5 से 6 लाख रूपये का मिलने वाला राजस्व एक तरह से बंद हो गया है। पिछले साल ऐसी ही नौबत आई थी उस समय एसटी कर्मियों को कुछ माह वेतन नहीं मिल पाया था इस साल भी स्थिति वैसी ही बनी हुई है जिसके कारण आने वाले दिनों में वेतन मिलेगा या नहीं, इसकी चिंता कर्मियों को सताने लगी है।