arrest

पिंपरी. अभी 20 किलो एमडी (मेफेड्रोन) ड्रग्स बरामद होने का मामला ताजा ही है कि पिंपरी-चिंचवड़ में भारी मात्रा में गांजा बरामद हुआ है. भोसरी की लांडगे बस्ती में क्राइम ब्रांच यूनिट-1 की टीम ने गांजा बेचने के लिए आए एक युवक को गिरफ्तार कर उसके पास से साढ़े 37 किलो गांजा बरामद किया है.इस गांजे की कीमत सवा नौ लाख रुपए से ज्यादा बताई जा रही है.

क्राइम ब्रांच यूनिट-1 ने की कार्रवाई 

क्राइम ब्रांच यूनिट-1 के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक उत्तम तांगडे के अनुसार गिरफ्तार आरोपी युवक का नाम दत्ता पुरुषोत्तम कल्याणी (25) है.उसके खिलाफ यूनिट-1 के पुलिस सिपाही नितिन खेसे ने भोसरी पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है. यूनिट-1 की टीम भोसरी में पैट्रोलिंग कर रही थी, तब खेसे को दत्ता 2 बोरियों के साथ शिवशक्ति कालोनी में एक पेड़ के नीचे संदिग्ध हालात में खड़ा नजर आया.

बोरियों में छिपा रखा था गांजा

पुलिस को उस पर शक हुआ और उससे पूछताछ की तो वह हड़बड़ा गया.जब उसके पास की बोरियों की तलाशी ली गई तब उसमें भारी मात्रा में गांजा भरा पाया गया. पुलिस ने बोरियों के साथ दत्ता को हिरासत में लिया. इन दो बोरियों में 37 किलो 500 ग्राम गांजा बरामद हुआ जिसकी कीमत नौ लाख 37 हजार 710 रुपए बताई गई है. पुलिस की पूछताछ में आरोपी दत्ता ने स्वीकार किया कि यह गांजा बेचने के लिए लाया था. फिलहाल उससे और पूछताछ की जा रही है.

नशीला पदार्थ विरोधी दस्ते ने दिया अंजाम

पिंपरी-चिंचवड़ के पुलिस आयुक्‍त कृष्ण प्रकाश, उपायुक्‍त सुधीर हिरेमठ, सहायक आयुक्‍त आर. आर. पाटील के मार्गदर्शन में यूनिट-1 पुलिस निरीक्षक उत्तम तांगडे, सहायक उपनिरीक्षक रवींद्र गावंडे, कर्मचारी आनंद बनसोडे, अमित गायकवाड, मनोजकुमार कमले, मारूती जायभाये, अंजनराव सोडगिर, नितीन खेसे, गणेश सावंत, विशाल भोईर इसके साथ ही नशीले पदार्थ विरोधी दस्ते के सहायक उपनिरीक्षक राजन महाडिक, राजेंद्र बांबले, अजित कुटे और प्रसाद कलाटे के समावेश वाली टीम ने इस पूरी कार्रवाई को अंजाम दिया.