Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation

    पिंपरी. कोरोना (Corona) की पृष्ठभूमि पर सभी स्कूलों में ऑनलाइन पढ़ाई (Online Education) शुरू है। हालांकि महानगरपालिका स्कूलों (Municipal Schools) में पढ़नेवाले ज्यादातर बच्चे आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (Economically Weaker Sections) से है। उनके अभिभावकों के लिए उन्हें महंगे स्मार्टफोन खरीदना संभव नहीं है। इससे बच्चों की पढ़ाई पर विपरीत असर पड़ सकता है। इसे ध्यान में लेकर पिंपरी चिंचवड़ महानगरपालिका (Pimpri Chinchwad Municipal Corporation) की स्थायी समिति की बैठक में महानगरपालिका ने स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को टैब उपलब्ध कराने का फैसला किया है।

    कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए एहतियात के तौर पर पिंपरी चिंचवड़ शहर के साथ-साथ राज्य के कुछ हिस्सों में पूर्ण या आंशिक तालाबंदी की जारी है। महानगरपालिका सहित शहर के सभी स्कूलों को पिछले शैक्षणिक वर्ष में ऑनलाइन शुरू किया गया था। जारी शैक्षणिक वर्ष में तीसरी कोरोना लहर मानकर सभी स्कूल अब भी ऑनलाइन क्लासेस चला रहे है। महानगरपालिका के स्कूलों में पढ़ने वाले अधिकांश छात्र स्लम क्षेत्रों के साथ-साथ आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों से हैं। उनके माता-पिता के पास स्मार्टफोन खरीदने के लिए वित्तीय साधन नहीं हैं। इसको लेकर कई अभिभावकों ने शिकायत की थी। इससे छात्रों की शिक्षा बाधित होने की संभावना है।

    [blurb content=””

    जिसको ध्यान में रखते हुए, पिंपरी चिंचवड़ महानगरपालिका के स्कूलों में पहली से दसवीं कक्षा तक के सभी छात्रों को स्कूल पाठ्यक्रम सॉफ्टवेयर के साथ टैब देने का प्रस्ताव पारित किया गया। यह टैब राज्य सरकार द्वारा अनुमोदित स्कूल पाठ्यक्रम पर आधारित स्पॉटवेयर ई-लर्निंग सामग्री प्रदान करेगा। जिन संस्थानों ने जिला परिषदों, शैक्षणिक संस्थानों, अन्य महानगरपालिका और स्मार्ट शहरों को स्कूल पाठ्यक्रम सॉफ्टवेयर प्रदान किया है, उन्हें बालभारती द्वारा अनुमोदित प्रतिष्ठित संस्थानों से पहली से दसवीं शैक्षिक पाठ्यक्रम के लिए सॉफ्टवेयर (ई-लर्निंग सामग्री सहित) लेने की मंजूरी दी गई है। स्थायी समिति के अध्यक्ष एड. नितिन लांडगे की अध्यक्षता में हुई बैठक में इसका प्रस्ताव पेश किया गया और सभी सदस्यों ने इसे मंजूरी दे दी।