नीम का पेड़ दूर करेगा आपका मंगल दोष, हनुमानजी देंगे आशीर्वाद

    -सीमा कुमारी 

    भले ही नीम स्वाद में कड़वा होता है, लेकिन सेहत के लिए नीम का पेड़ किसी वरदान से कम नहीं है। औषधीय के साथ-साथ नीम का धार्मिक महत्त्व भी है। ज्योतिष-शास्त्र के अनुसार, नीम का पौधा न सिर्फ आपको धनवान बना सकता है, बल्कि इससे घर में सुख-शांति भी बनी रहती है। आइए जानें नीम से जुड़े कुछ वास्तु विज्ञान के बारे-:

    • ज्योतिष-शास्त्र की मानें तो, ‘मंगलदोष’ दूर करने के लिए कई लोग हनुमानजी की खास पूजा करते हैं या दूर-देशों के मंदिर में जाते हैं। मगर, घर में नीम का पौधा लगाकर उसकी पूजा व देखभाल करने से भी मंगलदोष दूर हो सकता है। साथ ही इससे हनुमान जी का आशीर्वाद भी मिलता है। घर की दक्षिण दिशा में नीम का पेड़ लगाएं।
    • कहते हैं कि, नीम की जड़ पर लाल रंग का सिंदूर लगाकर तिजोरी में रखने से धन की बरकत होती है और सफलता के योग बनते हैं। अगर आप धन से जुड़ी प्रोब्लेम्स से परेशान हैं तो ऐसे में यह उपाय कर सकते हैं।
    • घर के आंगन में नीम का पौधा लगाकर उसे रोजाना जल चढ़ाएं। इससे घर व परिवार के सदस्यों पर हनुमानजी की कृपा बनी रहेगी।
    • वास्तु-शास्त्र के मुताबिक, कुछ जगहों पर नीम को ‘नीमारी देवी’ भी कहा जाता है। इसके अलावा, मां दुर्गा का रूप भी माना जाता है। कहते हैं, कि नीम की पत्तियों के धुएं से घर में बुरी व प्रेत आत्माएं प्रवेश नहीं करती। साथ ही इससे सकारात्मक ऊर्जा भी आती है।
    • हिंदू धर्म में नीम के पेड़ का बहुत महत्व है। इसे साक्षात ‘मंगलदेव’ माना जाता है। इसलिए घर में नीम का पौधा लगाना शुभ माना जाता है। आप अपने घर की दक्षिण दिशा में नीम का एक पेड़ लगाएं नीम के पौधा लगाकर उसकी देखरेख करें। इससे जीवन में कभी भी आपका अमंगल नहीं होगा।
    • मान्यताएं हैं कि नीम की लड़की से बनी माला धारण करने से ‘शनिदोष’ की पीड़ा समाप्त हो जाती है। साथ ही यह सेहत के लिए भी फायदेमंद मानी जाती है।