File Photo
File Photo

    टोक्यो: टोक्यो ओलिंपिक-2020 (Tokyo Olympics-2020) की शुरुआत में बस कुछ ही हैं। ऐसे में आए दिन ओलिंपिक से जुड़ी कई खबर सामने आती रहती है। लेकिन, इन्हीं ख़बरों में से एक ऐसी खबर सामने आई है, जिसे जानकर हर कोई हैरान है। साथ ही मेजबानों के लिए बड़ी मुसीबत भी खड़ी कर दी है। ओलिंपिक शुरू होने से पहले युगांडा का एक एथलीट शुक्रवार को वेस्टर्न जापान (Ugandan athlete disappeared from western Japan on Friday) से गायब हो गया है, जिसके बाद जापानी मेजबानों पर सवाल खड़े हो रहे हैं। क्योंकि इस समय देश में कोविड-19 (Covid-19) का कहर बहुत ज़्यादा है, जिसकी वजह से इन खेलों का विरोध भी किया जा रहा है और इसी बीच एकदम से किसी खिलाड़ी का गायब हो जाना बहुत आश्चर्यजनक है। 

    जो खिलाड़ी लापता हुआ है वह युंगाडा की नौ सदस्यीय टीम का हिस्सा था, जो 20 साल का है और वह ओसाका में ट्रेनिंग कर रहा था। टीम के साथियों ने बताया कि गायब हुआ खिलाडी शुक्रवार दोपहर से लापता है। उन्होंने पाया कि उसकी सलाइवा सैंपल टेस्ट रिपोर्ट नहीं आई है और उसके होटल का कमरा खाली है। शुक्रवार की सुबह कोई ट्रेनिंग नहीं थी और वह आखिरी बार सुबह-सुबह अपने ही कमरे में देखा गया था। जिसके बाद होटल में अफरा-तफरी मच गई। उसे काफी ढूंढा गया, लेकिन वह नहीं मिला।   

    पुलिस को दी गई जानकारी 

    20 साल का खिलाड़ी जब होटल में नहीं मिला तो पुलिस को इस बात की जानकारी दी गई। इस मामले में अधिकारी ने कहा कि होटल में 24 घंटे नजर नहीं रखी जा सकती है, इसलिए वह कब और कैसे बाहर गया इस बात की जानकारी किसी को नहीं है। युगांडा की टीम जापान के हेल्थ एंड सर्विलांस सिस्टम पर है। 19 जून को यहां आने के बाद नारिटा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उनकी टीम का एक सदस्य कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया था जबकि उनकी टीम के आठ सदस्य 500 किलोमीटर सफर करते हुए इजुमिसानो पहुंचे थे जहां उनका प्री ओलिंपिक कैंप आयोजित किया जाना था। हालांकि, गायब हुए खिलाड़ी का पुलिस पता करने की पूरी कोशिश कर रही है।   

    एक साल टाला गया ओलिंपिक खेल 

    बता दें कि कोरोना के कारण ओलिंपिक खेलों में काफी अड़चने आई है। इस खेल को पिछले साल ही आयोजित किया जाना था, लेकिन बढ़ते कोरोना के मामले की वजह से इसे एक साल तक के लिए टाला गया। जिसके बाद अब यह खेल इस साल 23 जुलाई से आठ अगस्त के बीच खेले जाना है।