ind-vs-aus-test-match-India would like to challenge Australia on day-night test

-विनय कुमार

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 4 मैचों की टेस्ट सीरीज ‘बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी’ (Border Gavaskar Trophy) के तहत खेली जा रही पिंक बॉल डे नाईट टेस्ट मैच के इस सीरीज के पहले मैच में टीम इंडिया (Team India) को ऑस्ट्रेलिया (Australia) ने 8 विकेट से हरा कर सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है। अभी 3 मैच और होने है। इस सीरीज का दूसरा मैच बॉक्सिंग डे (Boxing Day Test) यानी 26 दिसंबर से मेलबर्न (Melbourne) के मैदान पर खेला जाएगा।

पहले मैच में मिली ऐतिहासिक शर्मनाक हार के बाद मेलबर्न में होने वाली टेस्ट मैच की भिडंत में ऑस्ट्रेलिया पर हावी होना भारतीय टीम के बहुत आसान नहीं होगा। क्योंकि, टीम इंडिया के रेग्युलर कप्तान विराट कोहली (Virat kohli) पैटर्निटी लीव पर भारत लौट रहे हैं और भारत के घातक और ख़तरनाक तेज़ गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammad Shami) भी इंजर्ड होकर सीरीज से बाहर हो चुके है। इस सीरीज को और भी रोमांचक बनाने को लेकर ‘क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया’ (Cricket Australia) ने खास घोषणा की है।

‘क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया’ ने ‘बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच’ (Boxing Day Test Match) यानी 26 दिसंबर को शुरू हो रहे टेस्ट मैच में बेहतरीन प्रदर्शन कर ‘मैन ऑफ द मैच’ अवॉर्ड (Man of the Match, Melbourne Test) जीतने वाले क्रिकेटर को ‘जॉनी मुलाग मेडल’ (Johny Mullag Medal) से सम्मानित करने की घोषणा की है।

‘क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया’ (Cricket Australia) ने अपने ऑफिशल ट्विटर हैंडल पर एक मेसेज शेयर कर इस बात की जानकारी दी। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने लिखा, “हमें यह बताते हुए खुशी है कि हमने ‘बॉक्सिंग डे टेस्ट’ में मैन ऑफ द मैच’ बनने वाले खिलाड़ी को ऑस्ट्रेलिया की पहली इंटरनेशनल टीम के कप्तान जॉनी मुलाग (Johny Mullag) के नाम पर दिए जाने वाले मेडल से सम्मानित करने का निर्णय लिया है। जॉनी मुलाग (Johny Mullag) 1868 की ऑस्ट्रेलिया के कप्तान थे।”

क्रिकेट का इतिहास बताता है कि, ऑस्ट्रेलिया (Australia) की पहली इंटरनेशनल टीम जो विदेश के दौरे पर गई थी, उस टीम के कप्तान जॉनी मुलाग (Johny Mullag) थे। उन्हीं की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने 1868 में पहली बार इंग्लैंड का दौरा किया था। जॉनी मुलाग का असली नाम उनारिमिन था। 1868 के पहले इंटरनेशनल दौरे में टीम का नेतृत्व करने वाले मुलाग ने अपने करियर में 47 में से 45 मैचों में हिस्सा लिया था, जिसमें 23 की औसत से उन्होंने 1698 रन बनाए थे।

जॉनी मुलाग (Johny Mullag) ने अपने करियर में कुल 1877 ओवर गेंदबाजी की और 831 ओवर मेडन फेंके। 245 विकेट हासिल करने का श्रेय भी उनके नाम है। जॉनी मुलाग क्रिक्रेट करियर के दौरान विकेटकीपर की भूमिका में भी थे।