File Photo
File Photo

    भारत और साउथ अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच 3 मैचों की टेस्ट सीरीज का आरंभ 26 दिसंबर 2021 को होगा। पहला टेस्ट मैच सेंचुरियन के मैदान में खेला जाना है। गौरतलब है कि ओमिक्रॉन (Omicron) के संक्रमण के खतरों के मद्देनजर साउथ अफ्रीका के क्रिकेट बोर्ड ‘Cricket South Africa’ (CSA) ने निर्णय लिया है कि सीरीज के दौरान अगर टीमों का कोई भी सदस्य COVID-19 Positive पाया जाता है, तो उस खिलाड़ी या सपोर्ट स्टाफ क्वारंटीन कर दिया जाएगा, लेकिन टेस्ट सीरीज निर्धारित शेड्यूल के हिसाब से आगे बढ़ेगी।

    CSA के मेडिकल ऑफिसर शुएब मांजरा (Shuaib Manjra) ने एक न्यूज एजेंसी से कहा कि खिलाड़ी या टीम का जो भी सदस्य अगर कोरोना से संक्रमित होता है तो सिर्फ उसे ही क्वारंटीन किया जाएगा, संपर्क में आए लोगों को नहीं। इस सीरीज का दूसरा मैच जोहानिसबर्ग (Johannesburg South Africa vs India Test Match, 2022) में  3 जनवरी से 7 जनवरी के बीच खेला जाएगा।

    CSA के मेडिकल ऑफिसर शुएब मांजरा ने कहा कि सीरीज में हिस्सा ले रहे सभी खिलाड़ी और स्पोर्ट स्टाफ का कोविड टेस्ट कराया गया है। और, पूरी सीरीज के दौरान भी हर 3 दिन में सभी के टेस्ट कराते जाए जाएंगे। इसके अलावा बायोबबल में मेडिकल स्टाफ भी मौजूद रहेंगे, जो परिस्थितियों पर नजर रखेंगे।

    अगर कोई पाया गया COVID पॉजिटिव

    अगर टीम का कोई मेंबर बायो-बबल में एंट्री करने से पहले कोविड पॉजिटिव पाया जाता है तो, उसे तब तक बायोबबल से बाहर रखा जायेगा, जब तक कि उसकी रिपोर्ट नेगेटिव नहीं आती। और अगर, बायो-बबल में मौजूद कोई टीम का सदस्य कोविड पॉजिटिव पाया जाता है, उस मेंबर को होटल के अंदर ही क्वारंटीन किया जाएगा। और, अगर जरूरत पड़ी तो परिस्थितियों के मद्देनजर उन्हें सुरक्षित अस्पताल में एडमिट कराया जाएगा। लेकिन, सीरीज के मैच तय तारीखों के हिसाब से आगे बढ़ेंगे। टीमों के सभी सदस्यों का हर 7 दिन में टेस्ट कराया जाएगा। 

    Bio-Bubble है बेहद सुरक्षित

    मेडिकल ऑफिसर शुएब मांजरा ने कहा कि, वैज्ञानिकों के मुताबिक, साउथ अफ्रीका ने चौथी लहर की चरम महामारी को पार कर लिया है। संक्रमण की दर में बहुत तेज़ी से कमी आई है। खासकर उन स्थानों में जहां इस ताजा सीरीज के पहले दो टेस्ट मैच खेले जाने हैं। उन्होंने कहा कि, इन सभी के मद्देनजर टीमों के लिए बहुत ही सुरक्षित बायो-बबल तैयार किया गया है।  टीम इंडिया पूरी तरह से अलग बायो-बबल में रखा गया है।

    टीम इंडिया के साउथ अफ्रीका पहुंचने से पहले बायोबबल के सभी कर्मचारियों के टेस्ट कराए गए हैं। और, टीम के लैंड होने से एक हफ्ते पहले ही सभी कर्मचारियों को होटल में अलग कर दिया गया था। CSA के मेडिकल ऑफिसर ने कहा कि टीम के लिए बहुत ही सुरक्षित बायो-बबल बनाया गया है।

    बॉर्डर सील होने पर इस विमान से लौटेगी भारतीय टीम

    ‘Cricket South Africa’ (CSA) के  मेडिकल ऑफिसर शुुएब माजरा  (Shuaib Manjra) ने कहा कि अगर ‘Omicron Virus’ का संक्रमण बढ़ता है और खतरों के मद्देनजर लॉकडाउन लगी और बॉर्डर सील करने की बात सामने आई, तो टीम इंडिया को चार्टर्ड प्लेन में स्वदेश भेजने की व्यवस्था की जाएगी। लेकिन, ऐसी आशंका की उम्मीद नहीं है।

    – विनय कुमार