File Photo
File Photo

    -विनय कुमार

    जोहानिसबर्ग के इंपीरियल वांडरर्स स्टेडियम (Imperial Wanderers Stadium) में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच में टीम इंडिया के दो अनुभवी बल्लेबाज एक बार फिर फिसड्डी साबित हुए। चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) और अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) वापसी करने में नाकाम रहे और अपनी खराब फॉर्म का फिर शिकार हुए।

    आज पुजारा भारत ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी फैसला किया। जिसमें भारत की पहली पारी की बल्लेबाजी में भारत के मंजे हुए और काफ़ी अनुभवी बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा सिर्फ 3 रन बनाकर चलते बने। वहीं टेस्ट टीम के पूर्व कप्तान और सधे हुए बल्लेबाज़ माना जाने वाले अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) भी आज दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में फेल साबित हुए। रहाणे गोल्डन डक का शिकार हुए और पवेलियन लौट दिए गए। भारतीय टीम के दोनों अनुभवी बल्लेबाजों को दुवैन ओलिवियर (Duanne Olivier) ने चलता किया। ओलिवियर की तेज़ गेंद  चेतेश्वर पुजारा के बल्ले को हल्के से चूमती हुई पीछे निकल गई और पीछे खड़े विकेटीकीपर टेम्बा बावुमा (Temba Wabuma) ने बिना कोई गलती किए लपक लिया। वहीं, अजिंक्य रहाणे भी स्लिप में कैच कर लिए गए।

    टेस्ट क्रिकेट का इतिहास बताता है कि अजिंक्य रहाणे पहली किसी मैच में शून्य पर यानी गोल्डन डक (Golden Duck) का शिकार हुए हैं। गौरतलब है कि ये दोनों ही खिलाड़ी पिछले कुछ मैचों से खराब फॉर्म से गुजर रहे हैं। जोहांसबर्ग का इंपीरियल वांडरर्स स्टेडियम (Imperial Wanderers Stadium Johannesburg India vs South Africa Test Match, 2022) साउथ अफ्रीका के तेज गेंदबाज दुवैन ओलिवियर (Duanne Olivier) के लिए यादगार मैदान बन गया। ओलिवियर ने अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा को आउट करते ही अपने अंतरराष्ट्रीय टेस्ट करियर का 50वां विकेट कंपलीट कर लिया। यानी, टेस्ट क्रिकेट में विकेटों की हाफ सेंचुरी पूरी कर ली।

     गौरतलब है कि भारत और साउथ अफ्रीका के बीच 3 मैचों की इस ताजा सीरीज के सेंचुरियन में खेले गए पहले मैच में अजिंक्य रहाणे ने 68 रन बनाए थे। लेकिन, चेतेश्वर पुजारा 16 रन ही बना पाए थे। टेस्ट क्रिकेट का इतिहास इस बात की गवाही देता है कि चेतेश्वर पुजारा ने पिछले 19 टेस्ट मैचों में सिर्फ 25.52 की एवरेज से सिर्फ 868 रन ही बनाए। जबकि अजिंक्य  रहाणे अपने खेले पिछले 18 टेस्ट मुकाबलों में केवल 24.22 की औसत से सिर्फ  751 रन ही बनाए हैं।

    सूरत-ए-हाल लगातार खराब फॉर्म से गुजर रहे इन दोनों अनुभवी बल्लेबाजों की जगह हो सकता है सीरीज के तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में किसी और बल्लेबाज को मौका दिया जाए। जाहिर है, भारत की टीम इस दौरे में जीत हासिल कर नया इतिहास रचना चाहेगी।