Sakshi Malik
PTI Photo

    बर्मिंघम. भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक (Sakshi Malik) ने शुक्रवार को यहां राष्ट्रमंडल खेलों (Commonwealth Games) की 62 किग्रा के फाइनल में कनाडा की एना गोंडिनेज गोंजालेस को चित करके स्वर्ण पदक अपने नाम किया। यह साक्षी का राष्ट्रमंडल खेलों में पहला स्वर्ण पदक है।

    इससे पहले वह राष्ट्रमंडल खेलों में रजत और कांस्य पदक जीत चुकी हैं। ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक अंतिम चार मुकाबले में कैमरून की बर्थे इमिलिएने इटाने एनगोले पर तकनीकी श्रेष्ठता से 10-0 की जीत से फाइनल में पहुंच गयीं।

    साक्षी ने क्वार्टरफाइनल में भी तकनीकी श्रेष्ठता से जीत हासिल की। उन्होंने इस शुरूआती मुकाबले में मेजबान इंग्लैंड की केलसे बार्नेस को मात दी।

    साक्षी के गोल्ड मेडल जीतने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें बधाई दी। पीएम ने ट्विटर पर लिखा, “CWG बर्मिंघम में हमारे एथलीट लगातार हमें गौरवान्वित कर रहे हैं। साक्षी मलिक के शानदार खेल प्रदर्शन से रोमांचित हूं। मैं उन्हें प्रतिष्ठित स्वर्ण पदक जीतने के लिए बधाई देता हूं। वह प्रतिभा का एक पावरहाउस है और उल्लेखनीय लचीलापन के साथ धन्य है।

    राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने भी साक्षी को गोल्ड मेडल जितने के बाद बधाई दी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “साक्षी मलिक ने राष्ट्रमंडल खेलों में कुश्ती में ऐतिहासिक स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने कड़ी चुनौती को पार किया और भारतीयों को गौरवान्वित किया। आप हमारे युवाओं, खासकर लड़कियों के लिए एक आदर्श हैं। आप ताकत से ताकत की ओर बढ़ें। हार्दिक बधाई!” (एजेंसी इनपुट के साथ)