सात महिला खिलाड़ी जिन्होंने ले लिया संन्यास

-विनय कुमार

समूचे 2020 का साल की बात करें तो यह साल काफी कोरोना महामारी (Covid-19 Pandemic) के साए में बीत गया। दुनिया भर में अलग अलग खेलों के कई टूर्नामेंट रद्द हो गए तो कई टाल दिए गए। जान की खातिर खिलाड़ियों लॉकडाउन घरों में कैद होना पड़ा। लेकिन देखा तो ये भी गया कि कई खेलों के अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट या फिर घरेलू लीग्स खेले भी गए। कई खिलाड़ियों की खेल के मैदान में वापसी हुई, कई टूर्नामेंट खेले भी गए तो खाली स्टेडियम में बिना दर्शकों के।

करीब-करीब 4 से 5 महीने ज्यादातर खेलों पर ब्रेक नज़र आया। कई टूर्नामेंट तो अब तक नहीं खेले गए हैं। ऐसे में खेल के मैदान से लंबे वक्त तक बाहर रहने के साथ अन्य कारणों से खेल की दुनिया के कई दिग्गज खिलाड़ियों ने संन्यास की घोषणा कर दी। 

कुछ दिग्गज महिला खिलाड़ियों को बात करते हैं, जिन्होंने 2020 में खेल से संन्यास ले लिया।

Sana Mir

सना मीर (Sana Mir)

इस साल खेल से संन्यास लेने वाली महिला खिलाड़ियों में पहला नाम पाकिस्‍तान महिला क्रिकेट टीम (Pakistan Women Cricket Team) की सीनियर धाकड़ खिलाड़ी और पूर्व कप्तान सना मीर (Sana Mir) का है। सना मीर ने इसी साल (2020) अप्रैल में 15 साल खेलने के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी।

सना मीर (Sana Mir) ने आज से 15 साल पहले 2005 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था। अपने करियर का आख़िरी अंतरराष्ट्रीय मैच सना ने पिछले साल 4 नवंबर 2019 को खेला था।

सना मीर ने अपने 15 साल के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में पाकिस्तान (Pakistan) के लिए 226 मैच खेले। जिसमें से 137 मैचों में उन्होंने कप्तानी की थी। सना मीर (Sana Mir) ने 120 वनडे (Pakistan Women’s ODI Matches) मैचों में 151 विकेट हासिल किए। उन्होंने 106 T20 मैच खेले जिसमें 89 विकेट झटकने में उन्हें कामयाबी मिली। पाकिस्तान महिला क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली खिलाड़ियों में सना का नाम तीसरे पायदान पर है।

Deepa Malik

दीपा मलिक (Deepa Malik)

पैरालंपिक गेम्स (Paralympic Games) में भारत (India) को पहला मेडल दिलाने का श्रेय दीपा मलिक को जाता है। दीपा ने रियो पैरालंपिक (Rio Paralympic, 2016) में सिल्वर मेडल जीता था, जिसके लिए उन्हें ‘राजीव गांधी खेल रत्न’ (Rajiv Gandhi Khel Ratna Award) से नवाजा गया था। दीपा मालिक इस अवॉर्ड से सम्मानित होने वाली भारत की पहली महिला पैरा एथलीट बनी। बेहतरीन नाम और शोहरत कमा कर देश को नाम रोशन करने वाली दीपा मालिक ने 11 मई 2020 को खेल से संन्यास का एलान कर दिया।

Laura Marsh

लौरा मार्श (Laura Marsh)

खेल से संन्यास लेने वाली महिला खिलाड़ियों में तीसरा नाम इंग्लैंड (England) की दिग्गज महिला क्रिकेटर लौरा मार्श का है। लॉरा जिन्होंने अगस्त 2020 में क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया। लॉरा मार्श ने अपने करियर में  इंग्लैंड के लिए 9 टेस्ट मैच, 103 वनडे (ODI) और 67 T20 मैचों में हिस्सा लिया। तीनों फॉर्मेट की बात की जाए तो कुल मिलाकर उन्होंने 217 अंतर्राष्ट्रीय विकेट अपने नाम किया। हालांकि, लॉरा मार्श ने 2019 के नवंबर महीने में संन्यास लेने का फैसला किया था, लेकिन फरवरी 2020 में खेले गए ‘महिला T20 विश्व कप’ (ICC Women’s T20 World Cup, 2020) के बाद उन्होंने संन्यास की। इंग्लैंड ने 2009 से 2017 के बीच 3 बार ‘ ‘महिला वनडे वर्ल्ड कप’ (ICC Women’s ODI World Cup) जीता है, इन सभी जीत में लॉरा मार्श की बड़ी भूमिका रही है।

Caroline Wozniacki

कैरोलिन वोजनियास्की (Caroline Wozniacki)

इस साल खेल से संन्यास लेने वाली अगली प्रमुख महिला खिलाड़ी डेनमार्क (Denmark) की दिग्गज टेनिस खिलाड़ी कैरोलिन वोज्नियाकी (Danish Tennis Player Caroline) हैं। कैरोलिन ने जून 2020 में संन्यास की घोषणा की। टेनिस की दुनिया की इस महिला स्टार प्लेयर का करियर हार के साथ खत्म हुआ। कैरोलिन ने ऑस्ट्रेलियन ओपन (Australian Open) में अपने करियर का अंतिम मैच खेला। इस मैच में रोमानिया (Romanian Tennis Player) की सिमोना हालेप (Simona Halep) ने फाइनल मैच में उन्हें हराया था। कैरोलिन ने सिर्फ़ 29 साल की उम्र में टेनिस करियर से संन्यास ले लिए। अपने करियर में इस उन्होंने 30 डब्ल्यूटीए टूर्नामेंट (WTA Championship) जीते।

Maria Sharapova

मारिया शारापोवा (Maria Sharapova)

साल 2020 में टेनिस की दुनिया को अलविदा कहने वाली खिलाड़ियों में एक और खूबसूरत महिला खिलाड़ी नाम महिला का नाम शामिल है – मारिया शारापोवा (Maria Sharapova)। मारिया ने 26 फरवरी 2020 को टेनिस से संन्यास की घोषणा कर दी। अपने बेहद सफल करियर में मारिया शारापोवा  5 बार ग्रैंडस्लैम (Grand Slam Women’s Singles Championship) जीतने वाली मारिया ने संन्यास की घोषणा करते हुए कहा था कि वह टेनिस को गुडबॉय (goodbye) कह रही हैं। और अब, एक अलग तरह की प्रतिस्पर्धा के लिए जा रही हैं।  

Ekaterina Makarova

एकातेरीना माकारोवा (Ekaterina Makarova)

रूस (Russian Women Tennis Player) की खूबसूरत टेनिस खिलाड़ी एकातेरीना माकारोवा ने भी 2020 में टेनिस से संन्यास ले लिया। उन्होंने 28 जनवरी 2020 को खेल को अलविदा करने का एलान किया था। हालांकि, एकातेरिना फरवरी 2019 से कोई टूर्नामेंट नहीं खेल पाई।

31 साल की ख़ूबसूरत एकातेरीना माकारोवा ने सिंगल्स और डबल्स में काफी कामयाब रहीं।  उन्होंने यूएस ओपन (US Women’s Open) और ऑस्ट्रेलियन ओपन (Australian Open) के सेमीफाइनल तक पहुंची। विंबलडन (Wimbledon) में क्वार्टर फाइनल में एकातेरिना women’s Singles में 8वें पायदान पर पहुंची। Women’s Doubles, Wimbledon में भी उनका प्रदर्शन अच्छा रहा। पहले पायदान पर पहुंचने में भी वो कामयाब रहीं।

Julia Görges

जूलिया जॉर्जेस (Julia Görges)

इस साल खेल से संन्यास लेने वाली दिग्गज महिला खिलाड़ियों की लिस्ट में अंतिम नाम है विंबलडन (Wimbledon) की पूर्व सेमीफाइनलिस्ट जूलिया जोर्जेस का। जूलिया ने अक्टूबर 2020 में टेनिस (German Women Tennis Player) से संन्यास लेने की घोषणा कर दी थी। जर्मनी की जूलिया जॉर्जस को 2018 में विंबलडन सेमीफाइनल (Wimbledon Semifinals 2018) में सेरेना विलियम्स (Serena Williams) ने हरा दिया था। और,  इसी साल, यानी 2020 में जूलिया अपने करियर की टॉप रैंकिंग 9वें पायदान पर पहुंची थी।

जूलिया को फ्रेंच ओपन 2014 (French Open 2014 में मिक्सड डबल्स (Mixed Doubles) में नेनाद जिमोनजिक (Nenad Zimonjić) के साथ खेलते हुए फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। लेकिन, इसी साल फेड कप (Fest Cup) की रनर अप बनी। जूलिया 2011 में स्टुटगार्ट (Stuttgart Open) और 2017 में मास्को और जुहाई में डब्ल्यूटीए एलीट ट्रॉफ्री (WTA Elite Trophy, 2017) की विजेता भी बनी।