डिप्टी CM मनीष सिसोदिया ने कहा- दिल्ली को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए कम से कम एक दिन सार्वजनिक यातायात का इस्तेमाल करें

    नई दिल्ली: दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने रविवार को राजधाानी में रहने वाले लोगों को साथ आने और ‘युद्ध प्रदूषण के विरुद्ध’ अभियान में शामिल होने की अपील की।

    सिसोदिया ने कहा कि यातायात सिग्नल (संकेतक) पर वाहन का इंजन बंद करने और महीने में कम से कम एक बार सार्वजनिक यातायात माध्यम का इस्तेमाल करने जैसे छोटे कदम शहर को ‘स्वस्थ’ और ‘प्रदूषण मुक्त’ बना सकते हैं।  सिसोदिया ने दिल्ली सरकार के संवाद एवं विकास आयोग (डीडीसी) द्वारा राहगिरी फाउंडेशन के सहयोग से पटपड़गंज विधानसभा क्षेत्र में प्रदूषण के बारे में जागरुकता फैलाने के लिए चलाए जा रहे एक दिवसीय इलाका राहगिरी कार्यक्रम के दौरान यह बात कही। 

    सिसोदिया के हवाले से जारी बयान में कहा गया, ‘‘व्यक्तिगत और सामुदायिक स्तर पर आगे आकर प्रदूषण को कम करने के लिए काम करना हमारा सामूहिक कर्तव्य है। दिल्ली को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए प्रत्येक नागरिक को अपने हिस्से की जिम्मेदारी लेनी होगी।” 

    उन्होंने कहा कि यातायात सिग्नल पर वाहन का इंजन बंद करने और सार्वजनिक यातायात का इस्तेमाल करने जैसे छोटे कदम उठाकर नागरिक स्वस्थ दिल्ली की नींव रख सकते हैं, प्रत्येक नागरिक को कम से कम एक दिन सार्वजनिक यातायात का इस्तेमाल करना चाहिए, पैदल चलना चाहिए या साइकिल चलाना चाहिए।

    सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण कम करने के लिए कई स्तरों पर काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि प्रदूषण कम करने के लिए नियम और कानून बनाना सरकार की जिम्मेदारी है लेकिन ‘‘इसके लिए व्यक्तिगत और सामुदायिक स्तर पर साथ आना सभी की जिम्मेदारी है।” 

    पटपड़गंज में सुबह सात बजे से 10 बजे तक राहगिरी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान बीएसईएस यमुना पावर लिमिटेड कार्यालय और पश्चिम विनोद नगर में सर्वोदय कन्या/बाल विद्यालय के बीच का खंड पूरी तरह से वाहनों से मुक्त था। इस दौरान योग, साइकिल चलाने, स्केटिंग समेत कई तरह के कार्यक्रम में हजारों बच्चों और लोगों ने हिस्सा लिया।