पिछले आठ साल से कहां थे दिल्ली के मुख्यमंत्री, गौतम गंभीर का लैंडफिल मुद्दे पर केजरीवाल से सवाल

    नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) द्वारा दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के चुनाव से पहले कचरा डालने के स्थलों (लैंडफिल साइट) को चुनावी मुद्दा बनाए जाने पर भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा और पूछा कि वह पिछले आठ साल से कहां थे। 

    पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले गंभीर ने पीटीआई-भाषा के साथ बातचीत में आप पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पूर्वी दिल्ली स्थित गाजीपुर लैंडफिल स्थल पर किया गया काम इस बात का उदाहरण है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली एमसीडी कैसे “बदलाव ला सकती है”।

    क्रिकेटर से नेता बने गंभीर ने कहा कि पिछले आठ साल में ‘‘हमने सिर्फ दिल्ली के मुख्यमंत्री को हर चीज के लिए केंद्र को दोष देते सुना है, लेकिन किसी ने उनसे यह नहीं पूछा कि मुख्यमंत्री के तौर पर उनकी क्या जिम्मेदारी है।” गंभीर ने कहा कि केजरीवाल को सामने आना चाहिए और इस बारे में बोलना चाहिए। भाजपा सांसद ने कहा कि दिल्ली के लोग खुद देख सकते हैं कि तीन साल पहले गाजीपुर लैंडफिल साइट क्या थी और अब क्या हो गई है।

    उन्होंने दावा किया कि इसकी ऊंचाई कम से कम 50 फुट कम हो गई है। पूर्वी दिल्ली के सांसद ने आठ साल बाद संबंधित स्थल पर मुख्यमंत्री के दौरे पर भी सवाल उठाया। केजरीवाल ने पिछले महीने गाजीपुर लैंडफिल स्थल का दौरा किया था और कहा था कि आगामी एमसीडी चुनाव कचरे के मुद्दे पर लड़ा जाएगा। उन्होंने वादा किया है कि एमसीडी चुनाव में विजयी होने पर पांच साल में दिल्ली को साफ-सुथरा बना दिया जाएगा। 

    गंभीर ने कहा, “मैं पूछना चाहता हूं कि पिछले आठ साल से दिल्ली के मुख्यमंत्री कहां थे? मैंने इस पर काम करने और समाधान निकालने के लिए 2020 में एक पत्र लिखा था, लेकिन उनके पास जवाब देने का शिष्टाचार भी नहीं है।” गाजीपुर के अलावा, दो अन्य लैंडफिल स्थल ओखला और भलस्वा में स्थित हैं। गंभीर ने पूछा, “आठ साल में एक भी वैक्यूम क्लीनर नहीं। सरकार ने प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए क्या किया है?”  आप सरकार की आबकारी नीति पर उन्होंने कहा कि इसे वापस लिया जाना ही सबकुछ बताने के लिए काफी है। (एजेंसी )