maharashtra corona
File

    नई दिल्ली/मुंबई. सुबह कि बड़ी खबर के अनुसार अब महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलों में गिरावट होती दिख रही है। लेकिन वहीं रिकवरी रेट और डेथ रेट में कोई सुधार नहीं हो रहा है। इसके साथ ही ओमिक्रॉन के मामले भी बढ़े हैं।

    अगर स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों को देखा जाये तो  राज्य में बीते 24 घंटे में कोरोना के 42,462 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 23 मरीजों की मौत हुई है। इसके अलावा ओमिक्रॉन के 125 नए संक्रमित मिले हैं। वहीं अब राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के 42,462 मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 71,70,483 और मृतकों की संख्या 1,41,779 हो गई है। वहीं, राज्य में पिछले 24 घंटे में 39,646 लोग कोरोना से उबरने के बाद ठीक होने वालों की संख्या 67,60,514 पर पहुंच चुकी  है।

    वहीं, मुंबई में कोरोना से पिछले 24 घंटे में 81 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए हैं। यहां अब तक 1312 पुलिसकर्मी पॉजिटिव हैं। इसके अलावा 126 जवानों की जान भी जा चुकी है। यहां 1,312 कोरोना केस एक्टिव हैं।

    डेल्टा वैरिएंट के मामले ओमिक्रॉन से ज्यादा 

    वहीं महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार ओमिक्रॉन के डर के बीच डेल्टा वैरिएंट के मामले अब भी सबसे ज्यादा आते दिख रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ। प्रदीप व्यास ने सहयोगियों को लिखे पत्र में कहा कि विश्लेषण किए गए 4,200 से अधिक सैंपल में से अकेले 68% सैंपल में डेल्टा वैरिएंट, जबकि 32% रोगी ओमिक्रॉन के हैं। इसी डेल्टा वैरिएंट ने पिछले साल दूसरी लहर में कहर बरपाया था।

    महाराष्ट्र: वैक्सीन का टोटा

    गौरतलब है कि तक महाराष्ट्र में कोरोना वैक्सीन की पहली डोज़ 90% लोगों को दी जा चुकी है। वहीं, 62% लोगों को दूसरी डोज़ दे दी गई है। लेकिन डर कि बात यह है कि महाराष्ट्र के 94 लाख लोगों ने पहली डोज़ नहीं ली है। दूसरा डोज़ की अनुमति होने के बावजूद भी 1 करोड़ 13 लाख लोगों ने अब तक दूसरी डोज़ नहीं ली है। 15 से 18 साल की उम्र के 60 लाख किशोरों को वैक्सीन की पहली खुराक दी जानी थी, लेकिन अभी तक केवल 24 लाख बच्चों को ही यह वैक्सीन दी गई है। वहीं जानकारी के मुताबिक  कोविशील्ड का वर्तमान स्टॉक राज्य में केवल 20 दिन और चल सकता है।

    देश में कोरोना टीकाकरण अभियान का 1साल पूरा 

    बता दें कि देश ने आज कोरोना टीकाकरण अभियान के एक साल पूरे कर लिए हैं। भारत में अब तक कुल 156 करोड़ से अधिक वैक्सीन की खुराक दी गई है। इस दौरान महिलाओं को 76 करोड़ से अधिक वैक्सीन की खुराक दी गई। ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना टीकाकरण केंद्रों में 99 करोड़ से अधिक खुराक दी गई। इसके अलावा ट्रांसजेंडर आबादी को 3 लाख 69 हजार से अधिक टीके की खुराक फिलहाल पिलाई गई है।