corona
Representative Pic

    • अलर्टः संपर्क के सभी प्रयास नाकाम, मनपा क्षेत्र के सर्वाधिक यात्री  

    अमरावती. स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एक पखवाड़े के भीतर विदेशों से लौटकर आने वाले 15 यात्री अभी भी संपर्क से बाहर हैं. जिससे प्रशासन की चिंता काफी बढ़ गई है. इन यात्रियों से संपर्क करने के लिए अब तक किए गए सभी प्रयास भी नाकाम साबित हुए हैं. जिससे समस्या और भी गंभीर हो गई है.

    शहर में अब तक 34 विदेशी 

    बुधवार को निगमायुक्त ने बताया कि शहर में अब तक 34 विदेशी यात्री आए है. इन सभी को 14 दिनों के होम आइसोलेशन में रहने व 8 दिनों बाद स्वैब देने के निर्देश जारी किए गए है. अब तक जो 34 लोग साउथ अफ्रीका व अन्य जगहों से शहर में आए है. उनमें से 8 दिन पहले शहर पहुंचे 10 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है.

    शेष की टेस्टिंग सिलसिलेवार रूप से की जाएंगी. विदेशों से शहर में आने वाले लोग भी नियमों का कड़ाई से पालन करें, अन्यथा ऐसे लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की तैयारी मनपा प्रशासन की है. ऐसी जानकारी निगमायुक्त प्रशांत रोडे ने दी. 

    जीनोम सिक्वेंसिंग की रिपोर्ट नहीं मिली 

    कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर प्रशासनिक स्तर पर लगातार सतर्कता बरती जा रही है. अफ्रीका में जन्मे कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर ही पहले ही राज्य में अलर्ट जारी किया गया है. ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीजों की पुष्टि होने के बाद चिंता और भी बढ़ गई है. जिले में लगातार ग्रामीण व शहरी स्तरों पर प्रशासन व्यवस्थाओं को मजबूत करने का दावा कर रहा है.  जिनोम सिक्वेंसिंग के लिए जिले से अब तक कुल 23 नमूने पुणे की एनआईवी लैब को भेज जा चुके है. किंतु अब तक इन नमूनों की रिपोर्ट उपलब्ध नहीं हो पाई है.

    स्थानीय संस्थाओं को तलाश की जिम्मेदारी 

    सूत्रों के अनुसार जिला शल्य चिकित्सक कार्यालय की ओर से सभी लापता विदेशी नागरिकों की जानकारी जिला प्रशासन को सौंपी जा चुकी है. जिला प्रशासन के आदेश के तहत स्थानीय संस्थाओं को तलाश की जिम्मेदारी सौंपी गई है. यह सभी यात्री गत् 15 नवंबर से 4 दिसंबर के दौरान अमरावती लौटे हैं. लेकिन अब इनके निवास स्थान पर पहुंचने के बावजूद प्रशासन को कोई सूचना नहीं मिल पा रही है. इन लापता यात्रियों की सबसे अधिक संख्या मनपा क्षेत्र से ही बताई गई है. किंतु अब तक प्रशासन द्वारा अधिकारिक तौर पर इस पूरे घटनाक्रम की पुष्टि नहीं की जा रही है.