File Photo
File Photo

    अमरावती. कोरोना संक्रमण के साथ मौसम में परिवर्तन से शहर व ग्रामीण भाग में सर्दी, खासी, वायरल फीवर सहित तेज बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ी है. यही वजह है कि निजी दवाखानों के साथ जिला सरकारी अस्पताल (इर्विन) में इन मरीजों का तांता लगा हुआ है. सर्दी, खासी, तेज बुखार व वायरल फीवर जैसी शिकायतों के रोजाना 10 से अधिक मरीज ओपीडी में आ रहे है. जिन्हें प्राथमिक उपचार के बाद विशेष वार्ड में रेफर किया है.

    रोजाना 10 से अधिक मरीज

    जिला अस्पताल में आम दिनों में वायरल फीवर के 3 से 4 मरीज इलाज लेने आते है, लेकिन दिसंबर माह में अचानक ठंड का प्रमाण बढ़ने से मौसम में आए परिवर्तन के साथ संक्रमण प्रमाण तेजी से बढ़ा है. जिसमें बच्चों की रोग प्रतिकात्मक क्षमता कम होने से वायरल फीवर का सर्वाधिक प्रकोप छोटे बच्चों में दिखाई दे रहा है, इसीलिए निजी सहित सरकारी अस्पतालों में मरीजों की कतारें लगी है.

    सर्दी, गला बैठना, खासी जैसे लक्षणों के बाद तेज बुखार की शिकायतें मरीजों को हो रही है. इर्विन अस्पताल में रोजाना 10 से अधिक मरीज इलाज लेने आ रहे है. जिनका अस्पताल के वार्ड 10 व 11 में इलाज किया जा रहा है. जनवरी माह में 147 से अधिक मरीज वायरल फीवर से भरती किए गए है.

    अलग से वार्ड की व्यवस्था

    जनवरी माह से वायरल फीवर के मरीजों की संख्या बढ़ी है. इन मरीजों के इलाज के लिए अस्पताल के वार्ड 10 व 11 में अलग से व्यवस्था की गई है. डाक्टरों का इन मरीजों पर विशेष ध्यान है.- डा.शामसुंदर निकम, सीएस