marriage
Representative Photo

    अंजनगांव सुर्जी. अलग अलग धर्म के प्रेमी युगल के विवाह को लेकर तहसील के पांढरी और अंजनगांव सुर्जी थाने में तनाव की स्थिति बन गई. लड़की के समुदाय के 150 से 200 लोगों ने पुलिस स्टेशन को घेर लिया. इसी दौरान लडके के परिचित कुछ पांढरी युवक थाने पहुंचे तो दोनों गुटों में कहासुनी हुई और कुछ युवकों के बीच मारपीट हो गई. जिसमें एक युवक घायल हुआ. घायल पंकज रायबोले के सिर पर चोट लगी उसे अंजनगांव सुर्जी ग्रामीण अस्पताल में भर्ती कराया गया. डॉक्टरों ने उसे आगे के इलाज के लिए जिला सरकारी अस्पताल रेफर किया है. पुलिस ने तुरंत मारपीट के आरोपियों को गिरफ्तार करने की प्रक्रिया शुरू कर दी. इस घटना में 10 से 12 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

    अतिरिक्त पुलिस बल बुलाया

    चांदूर बाजार तहसील के दहिगांव पूर्णा का एक युवक मुंबई के विरार स्थित एक कंपनी में नौकरी करता है. मुंबई के विरार में उसकी मुलाकात उसी कंपनी में काम करने वाली 20 साल की मुस्लिम लड़की से हुई. जान पहचान दोस्ती में और दोस्ती प्यार में तब्दील हो गई. दोनों ने साथ जीने-मरने का फैसला किया और दोनों एक-दूसरे से शादी करने को तैयार हो गए.

    लडकी के माता पिता का इस विवाह को विरोध होने से दोनों शनिवार 7 मई को विरार से अंजनगांव तहसील के  पांढरी (खानमपुर ) में लडके के मौसा के यहां पहुंचे. उन्हे पुरी कहानी बताने के बाद विवाह के लिए वे पथ्रोट के आर्य समाज में गए, लेकिन तकनिकी कारणों के चलते यहां विवाह नहीं हो सका. जब इस घटना की जानकारी अंजनगांव सुर्जी में लडकी के समुदाय को हुई, तब दो-तीन सौ नागरिकों की भीड़ पांढरी पहुंची और लड़की पर इस लड़के से शादी न करने का दबाव डाला.

    लेकिन लड़की अपने फैसले पर अडिग थी, इसलिए वह अपने समुदाय के नागरिकों के दबाव से प्रभावित नहीं हुई. लड़के के परिजनों ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए अंजनगांव सुर्जी थाने को फोन कर सूचना दी. पुलिस तुरंत स्थिति की गंभीरता को देखते हुए पांढरी पहुंची और दोनों को पूछताछ के लिए थाने ले आई. स्थिति की गंभीरता को देखते हुए अंजनगांव सुर्जी के थानेदार दीपक वानखड़े ने अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाया. उपविभागीय पुलिस अधिकारी सचिंद्र शिंदे स्थिति पर पैनी नजर रखे हुए थे.