औरंगाबाद हवाई अड्डे के विस्तारीकरण में 25 साल का किया जाए विचार

    औरंगाबाद : शहर और आस-पास के इलाकों में औद्यौगिक क्षेत्र (Industrial Area) तेजी से विकसित हो रहा है। शहर के विकास को ध्यान में रखकर आगामी 25 साल का विचार करते हुए चिकलथाना हवाई अड्डे (Chikalthana Airport) का विस्तार करें। यह सूचना दिल्ली में संपन्न हुई बैठक में शामिल तज्ञों और शहर के उद्यमियों (Entrepreneurs) ने की। केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री डॉ. भागवत कराड (Dr. Bhagwat Karad) के नेतृत्व में औरंगाबाद एक शिष्टमंडल ने चिकलथाना हवाई अड्डा विस्तारीकरण सहित विविध मुद्दा पर चर्चा करने के लिए केन्द्रीय नागरी उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) की नई दिल्ली में राजीव गांधी भवन में मुलाकात कर एक बैठक की। इस अवसर पर सीएमआयए के अध्यक्ष शिवप्रसाद जाजू, उपाध्यक्ष नितिन गुप्ता, उत्सव माछर, दुष्यंत आठवले, अभिषेक मोदानी, औरंगाबाद फस्र्ट के अध्यक्ष प्रीतिश चटर्जी, उपाध्यक्ष मुकुुंद कुलकर्णी, विवेश देशपांडे प्रमुख रुप से उपस्थित थे। बैठक में हवाई अड्डे विस्तारीकरण पर मुकुुंद कुलकर्णी ने एक प्रेझेंटेशन पेश किया। 

    बैठक में हुई 5 मुद्दों पर चर्चा  

    बैठक में औरंगाबाद शिष्टमंडल ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को बताया कि औरंगाबाद शहर तेजी से विकसित हो रहा है। शहर के विकास को ध्यान में रखकर आगामी 25 साल का विचार कर चिकलथाना हवाई अड्डे का विस्तार किया जाए। उद्यमियों ने बताया कि कोरोना काल के पूर्व शहर के हवाई अड्डे से 17 विमान उडान (17 Aircraft Udaan) भरते थे। वर्तमान में यह संख्या उंगलियों पर गिननी इतनी है। यह संख्या दूबारा पूर्व पद पर लाकर नए विमान सेवा के लिए प्रयास किए जाए। औरंगाबाद में नाइट पार्किंग (Night Parking) की सुविधा निर्माण की जा सकती। जिससे रात में देर रात तक शहर में आने और सुबह जल्द शहर के बाहर जाने की व्यवस्था होगी। क्योंकि, वर्तमान में औरंगाबाद में विमान सेवा शाम 4 बजे के बाद ही है। उद्यमियों ने चिकलथाना हवाई अड्डे पर जल्द से जल्द इमिग्रेशन (Immigration) सुविधा शुरु करने पर जोर दिया। उनका कहना था कि यह सेवा शुरू करने से अंतरराष्ट्रीय विमान (International Aircraft) सेवा को प्रोत्साहन मिलेगा। वहीं, एयर कार्गो (Air Cargo) सेवा का बेहतर इस्तेमाल करने के बारे में भी बैठक में चर्चा हुई। 

    इमिग्रेशन को सैद्धांतिक रुप से मान्यता 

    ठक में चर्चा के बाद केन्द्रीय नागरी उडडयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सैध्दांतिक रुप से मान्यता देते हुए हवाई अड्डे विस्तारीकरण का मुद्दा महाराष्ट्र सरकार के सहकार्य से जल्द हल करने आश्वासन दिया। बैठक में फ्लाय बिग कंपनी के एमडी संजय मांडविया से औरंगाबाद से हैदराबाद विमान सेवा शुरु करने के बारे में चर्चा की गई। बैठक में इमिग्रेशन सहसचिव गृहमंत्रालय सुमंत सिंह, औषधि नियंत्रक प्रमुख वीजी सोमाणी, हवाई अड्डे प्राधिकरण के सीईओ अजयकुमार भारद्वाज, कार्यकारी संचालक ऑपरेशन विवेकानंद चौरे, फ्लाय बिग के एमडी संजय मांडविया, बीजेपी शहरा अध्यक्ष संजय केणेकर, पूर्व मेयर भगवान घडामोडे उपस्थित थे।