Seva Dal is the backbone of Congress, rendering of Nana Patole

    औरंगाबाद. देश जब अंग्रेजों (British) का गुलाम (slave) था, तब जैसी गंभिर परिस्थति देश की थी, वही परिस्थिति आज निर्माण हुई है। जिसके चलते सेवा दल (Seva Dal) की जिम्मेदारी अधिक बढ़ी है। देश जोड़ने मेें सेवा दल का बड़ा योगदान है। परंतु, कुछ शक्तियां देश को तोड़ने का काम कर रही है। इन सांप्रदायिक और देश को तोड़ने वाली शक्तियों को रोकने का काम सेवा दल ही कर सकता है। देश के प्रथम प्रधानमंत्री (Prime Minister) जवाहरलाल नेहरु (Jawaharlal Nehru), सुभाष चन्द्र बोस (Subhash Chandra Bose), राजीव गांधी (Rajiv Gandhi)भी सेवा दल के अध्यक्ष थे। सेवा दल कांग्रेस की रीढ़ है। यह प्रतिपादन कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष (Congress State President) नाना पटोले (Nana Patole) ने किया। 

    महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस सेवा दल के राज्य कार्यकारिणी की बैठक  तिलक भवन में संपन्न हुई। बैठक को मार्गदर्शन करते हुए नाना पटोले ने यह बात कही, मंच पर पार्टी के प्रदेश कार्याध्यक्ष बसवराज पाटिल, मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष भाई जगताप, सेवा दल के प्रदेशाध्यक्ष विलास औताडे, अखिल भारतीय सेवादल के महाराष्ट्र प्रभारी लालजी मिश्रा, अखिल भारतीय सेवा दल समन्वयक  कृष्णकांत पांडे, प्रदेश प्रवक्ता अतुल लोंढे, देवानंद पवार उपस्थित थे।

    अपने विचार में पटोले ने आगे कहा कि इन दिनों देश की जनता मोदी सरकार के नीतियों से तंग आ चुकी है। उनकी कमजोर नीतियों को आम जनता तक पहुंचाने का बिडा सेवा दल ने उठाकर गाँव -गाँव तक मोदी सरकार की पोल खोले। यह अपील पटोले ने की है। उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस का विचार देश के अंतिम नागरिक तक पहुंचाने का कार्य सालों से सेवा दल द्वारा जारी है।  अंग्रेजों के खिलाफ सेवा दल ने संघर्ष किया था। अब देश के सत्ताधारियों के खिलाफ  संघर्ष करने का समय आया है।  पंडित जवाहर लाल नेहरु ने देश के विकास की नीव रखी थी। नेहरु परिवार द्वारा खड़ा किया गए वैभव को एक एक कर बेचा जा रहा है।  महाराष्ट्र में सेवा दल का कार्य इस तरह हो, जिसकी दखल देश स्तर पर ली जाए।  

    कोरोना काल में सेवा दल ने की बड़े पैमाने पर मदद 

    सेवा दल के प्रदेशाध्यक्ष विलास औताडे ने कहा कि  प्रदेश सेवा दल  ने कोरोना काल में जरुरत मंदों को बड़े पैमाने पर मदद की। अनाज, किराणा सामान की कीट, औषधियां पहुंचाने का कार्य बीते कई माह से जारी है। भारी वर्षा और  उसके बाद निर्माण हुई बाढ़ की स्थिति में भी सेवा दल ने लोगों को बड़े पैमाने पर मदद की।  रक्तदान शिविर लगाए गए। किसानों के समर्थन में हस्ताक्षर मुहिम चलाने के अलावा कई कार्यों को पूरा करने में सेवा दल अग्रेसर रहने की जानकारी प्रदेशाध्यक्ष विलास औताडे ने दी।