MLA Ambadas Danve

    औरंगाबाद : महाराष्ट्र (Maharashtra) में जबसे ठाकरे सरकार (Thackeray Government) ने सत्ता संभाली है, तबसे औरंगाबाद (Aurangabad) के विकास के लिए राज्य सरकार (State Government) ने बड़े पैमाने पर निधि उपलब्ध कराया है। मेरे द्वारा किए गए प्रयासों से 21 करोड़ 30 लाख रुपए का निधि मंजूर हुआ है। विशेषकर, जिले (District) के पर्यटन विकास को सामने  रखकर मंजूर किए गए 51 करोड़ रुपए के निधि में से 15 करोड़ 55 लाख रुपए वितरित भी किए गए। यह जानकारी शिवसेना के विधायक अंबादास दानवे ने आयोजित प्रेस वार्ता में दी।

    उन्होंने बताया कि बीबी का मकबरा, सातारा तांडा से खंडोबा मंदिर के सड़क सुदृढीकरण, मिटमिटा के रास्ते, छावनी के कर्णपुरा मंदिर के रास्तों के अलावा अन्य सड़कों के लिए 11 करोड़ रुपए मंजूर किए गए। इसमें 3 करोड़ 30 लाख रुपए का निधि भी वितरित किया गया है। यह सभी कार्य जल्द शुरु होंगे। 

    ग्रामीण क्षेत्र में भी होंगे कई विकास कार्य 

    विधायक अंबादास दानवे ने बताया कि ठाकरे सरकार ने औरंगाबाद जिले के ग्रामीण क्षेत्र का भी विकास करने का बीड़ा उठाया है। ग्रामीण क्षेत्रों में किए जाने वाले विकास कार्यों के लिए निधि भी मंजूर हो चुका है। इसमें कालीमठ, म्हैसमाल के रास्तों के लिए 3 करोड़, औरंगाबाद तहसील के वाहेगांव देमणी के महादेव मंदिर परिसर में  विविध विकास कार्य करने के लिए 5 करोड़ रुपए मंजूर किए गए है। इसमें से डेढ़ करोड़ रुपए वितरित भी किए गए है। शहर में स्थित गर्वमेंट आर्टस-विज्ञान महाविद्यालय के स्थापना को  इस साल 100 साल पूरे हो रहे है। इसके उपलक्ष्य में राज्य सरकार ने 100 करोड़ का निधि मंजूर किया है। इस निधि से गर्वमेंट कॉलेज का चेहरा बदलने का दावा विधायक दानवे ने किया। 

    बजट अधिवेशन में विधायक दानवे ने पूछे 39 तारांकित प्रश्न 

    शिवसेना के विधान परिषद के विधायक दानवे ने बताया  कि बजट अधिवेशन में मैंने औरंगाबाद संहित मराठवाड़ा के महत्वपूर्ण प्रशनोंं की ओर सरकार का ध्यान आकर्षित किया। कई प्रशनों को हल करवाया। दानवे ने बताया कि उन्होंने सभागृह में 39 तारांकित प्रशन, 21 ध्यानाकर्षण पर चर्चा कर, 1 औचित्य की बात उपस्थित की। 5 अशासकीय प्रस्ताव पेश किए। इसके अलावा 100 विविध विषयों पर हुई चर्चा में हिस्सा लिया। बजट को लेकर हुई सर्वसाधारण चर्चा में भी उन्होंने हिस्सा लिया। एक सवाल के जवाब में विधायक दानवे ने बताया कि वॉटर ग्रीड योजना को बंद नहीं किया गया है। इसके आगे जिले के वैजापुर-गंगापुर तहसील में यह योजना विस्तारित होगी। घरकूल के लिए राज्य सरकार ने जमीन उपलब्ध कराई है। इसका श्रेय लेने का प्रयास अन्य दलों के जनप्रतिनिधि कर रहे है। इस पर भी दानवे ने आक्षेप जताया। नवजात शिशुओं के लिए निओटेल एम्बुलेंस मराठवाड़ा के लिए दी जाए। मराठवाड़ा का केशर आम विश्व भर में पहुंचाने के लिए विशेष प्रकल्प हाथ में लिए जाने की मांग भी अधिवेशन में किए जाने की जानकारी विधायक अंबादास दानवे ने दी।