LPG cylinder

तुमसर (सं). प्रत्येक माह रसोई गैस सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी घटने से  उपभोक्ताओं को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है. एक ओर सब्सिडी में कमी तो दूसरी ओर होम डिलीवरी का भी ग्राहकों पर खराब असर पड़ रहा है. केंद्र में जब से भाजपा की सरकार सत्तारूढ़ हुई है तब से रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में भारी वृद्धि हुई है. जो सिलेंडर 400 रु. का मिलता था, उसकी कीमत  725 रु. हो चुकी है. जो सिलेंडर गरीबों को मिलता था, वह भी मंहगा हो गया है.

होम डिलीवरी के अतिरिक्त पैसे

दिसंबर माह में 50-50 करके 100 रुपए दाम बढ़ने से उपभोक्ताओं में भारी रोष है. वहीं सिलेंडर की होम डिलीवरी करने वाले अतिरिक्त पैसे मांगते हैं. यह राशि 10 से 20 रुपये तक होती है. यह राशि गैस धारकों के लिए एक जुर्माना है. ग्रामीण क्षेत्रों में ऐसी घटनायें अधिक घटित होते दिखाई दे रही हैं.

अनेक छोटी बड़ी होटलों में सब्सिडी वाले गैस सिलेंडरों का उपयोग धड़ल्ले से हो रहा है. प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे पा रहा है. गैस वितरकों के पास भरपूर मात्रा में गैस सिलेंडर सप्लाई आने के कारण आम उपभोक्ताओं को आसानी से गैस सिलेंडर मिल रहे हैं. बड़े होटल मालिकों एवं कैटरिंग का व्यापार करने वाले व्यापारी के पास घरलू गैस सिलेंडर बड़ी संख्या में एकत्र हो जाते हैं.