File Photo
File Photo

    • ग्रामिणों में सरकार के खिलाफ नाराजगी 

    लाखांदूर. स्ट्रीट लाइट व जलापुर्ती योजना के तहत पिछले डेढ़ वर्ष से बकाया बिजली बिल में से केवल पिछले मार्च 2021 तक सरकार द्वारा भुगतान की संभावना है. जबकी इस वर्ष के अप्रैल से आगे के बिल का भुगतान ग्रापं द्वारा सरकार से प्राप्त विभिन्न राशि अथवा ग्रापं के स्वयं निधी से किए जाने के निर्देश दिए जाने की चर्चा है. 

    इस हालात में बिजली बिल भुगतान के लिए ग्रापं द्वारा घरटैक्स व पानीटैक्स में वृद्धी किए जाने की संभावना से ग्रामिणों में सरकार के खिलाफ नाराजगी व्यक्त की जा रही है.

    दो बार बंद की गई स्ट्रीट लाइट की बिजली 

    पिछले डेढ़ वर्ष से सरकार द्वारा ग्रापं क्षेत्र के स्ट्रीट लाइट व जलापुर्ती योजना के बिजली बिल का भुगतान नहीं किए जाने से तहसील में कुल दो बार इस योजनाओं की बिजली आपूर्ती बंद की गई है. हालांकि पिछले कुछ दिनों पुर्व स्थानीय जनप्रतिनिधियों की पहल में सरकार द्वारा बिजली बिल का भुगतान किए जाने की ग्वाही दी गई. जिसके कारण बंद की गई बिजली आपूर्ती शुरु की गई है.

    पिछले अप्रैल से बिल भुगतान के निर्देश 

    सरकार द्वारा पिछले मार्च 2021 तक स्ट्रीट लाइट के बकाया बिजली बिल का भुगतान किए जाने की संभावना है. जबकी अप्रैल 2021 से स्ट्रीट लाइट व जलापुर्ती योजना के बिल ग्रापं द्वारा भुगतान के निर्देश जारी किए गए है. जिसके अनुसार यह बिजली बिल ग्रापं द्वारा सरकार से 15 वित्त आयोग के बंधित, अबंधित राशि अथवा ग्रापं के स्वयं निधी से भुगतान के निर्देश दिए गए है.

    स्ट्रीट लाइट के तहत 1.20 करोड का बिजली बिल बकाया 

    स्थानीय लाखांदूर तहसील के कुल 62 ग्रापं के 103 स्ट्रीट लाइट कनेक्शन के तहत पिछले डेढ़ वर्ष से कुल 1 करोड 20 लाख 69 हजार 300 रुपयों का बिजली बिल बकाया है. हालांकि इस बाकाया बिल के राशि से सरकार द्वारा मार्च 2021 तक 1 करोड 6 लाख 53 हजार 300 रुपयों के बिल का भुगतान किया जानेवाला है. जबकी अप्रैल 2021 से पिछले अगस्त 2021 तक शेष 14 लाख 16 हजार रुपयों के बकाया बिल का तहसील के ग्रापं को भुगतान करने के निर्देश दिए जाने की जानकारी है.

    दशहरा दिवाली में अंधेरे का संकट 

    ग्रापं क्षेत्र के स्ट्रीट लाइट के बकाया बिजली बिल का भुगतान नहीं किए जाने के कारण इसके पुर्व दो बार तहसील में बिजली आपूर्ती बंद की गई है. हालांकि सरकार द्वारा मार्च 21 तक व ग्रापं द्वारा अप्रैल 21 से स्ट्रीट लाइट के बिजली बिल के भुगतान करने के निर्देश दिए गए है. 

    इस बीच सरकार एवं ग्रापं द्वारा स्ट्रीट लाइट के बकाया बिजली बिल का भुगतान नहीं किए जाने पर अगले दशहरा दीवाली त्योहारों के दौराण ग्रामीण क्षेत्र में अंधेरे का संकट निर्माण होने की संभावना व्यक्त की जा रही है.

    टैक्स में वृद्धी के संभावना से ग्रामिणों में नाराजगी 

    ग्रापं क्षेत्र के स्ट्रीट लाइट व जलापुर्ती योजना के बिजली बिल का इसके पुर्व सरकार द्वारा भुगतान किया जाता था. किंतु अप्रैल 21 से यह बिल ग्रापं को भुगतान करने के निर्देश जारी किए गए है. जिसके कारण बिजली बिल भुगतान के लिए ग्रापं द्वारा टैक्स में वृद्धी किए जाने की संभावना से ग्रामिणों में नाराजगी व्यक्त की जा रही है.