कांग्रेस की धमकी से रातोरात बदला शिलालेख, आजाद गार्डन के लोकार्पण का मामला

    चंद्रपुर: यहां प्रसिध्द आजाद गार्डन का कायाकल्प किये जाने के बाद इसके लोकार्पण समारोह में निमंत्रण पत्रिका और यहां लगाये गए शिलालेख पर सांसद, विधायक का नाम नदारत देख कांग्रेस के शहर अध्यक्ष रामू तिवारी ने कार्यक्रम नहीं होने देने की चेतावनी दी थी. जिसके चलते मनपा प्रशासन को रातोरात पहले बनाई गई निमंत्रण पत्रिका और शिलालेख में तब्दील करनी पडी. 

    कांग्रेस शहर अध्यक्ष का कहना था कि राजशिष्टचार के अनुसार जनप्रतिनिधि को निमंत्रित करना अपेक्षित था परंतु आयोजकों ने जिले के पालकमंत्री विजय वड्डेटीवार, सांसद बालू धानोरकर, स्थानीय विधायक किशोर जोरगेवार के नाम तक पत्रिका और शिलालेख पर नहीं दिए थे. आयोजक अपनी गलती सुधारे अन्यथा कार्यक्रम नहीं होने देने की चेतावनी उन्होने दी थी. 

    मनपा प्रशासन ने विवाद को लम्बा खींचने के बजाय रातोरात निमंत्रण पत्रिका पर विजय वडेट्टीवार, सांसद बालू धानोरकर, विधायक किशोर जोरगेवार के नाम सम्मिलित किए और नई पत्रिका छापकर वितरित की. साथ ही बगीचे के दर्शनी क्षेत्र में लगायी लगाये गए शिलालेख पर भी जनप्रतिनिधियों को सम्मान दिया गया.  इस बीच इस मुद्दे को लेकर आज शहर के मुख्य मार्गो पर इस विषय को लेकर बैनर पोस्टर लगे हुए थे. जो कि चर्चा का विषय बने हुए थे.