राशन की गड़बड़ी का नहीं निकल पाया हल; चालक हड़ताल पर, दो दिनों से राशन परिवहन ठप

    • वखार महामंडल का वजन काटा सही

    घुग्घुस: स्थानीय घुग्घुस मार्ग पर पडोली के वखार महामंडल के वजन काटे में गडबडी के मामले को राशन की ढुलाई करनेवाले वाहन चालकों ने उजागर किया था. राशन की हेराफेरी के इस मामले में वखार महामंडल के अधिकारी और ट्रक चालकों में से कौन सच बोल रहा है इसका हल मंगलवार को भी नहीं निकल पाया. इस बीच मंगलवार को वजन माप निरीक्षक ने वजन काटे की जांच की और उन्होने कहा कि वजन काटे पूरी तरह से ठीक है इसमें कोई गडबड नहीं है. इस बीच वाहन चालक हडताल पर चले गए है जिसके चलते दो दिन से राशन का परिवहन ठप हो गया है.

    ज्ञात हो कि पिछले तीन चार माह से वखार महामंडल के पडोली स्थित गोदाम से निकलनेवाला राशन विभिन्न तहसील के आपूर्ति कार्यालय के गोदाम पर पहुंचने पर हर वाहन से लगभग 40 से 50 किलो अनाज कम आ रहा था. इसके कारण ट्रक चालकों के वेतन से प्रतिकिलो 22, 24 रुपये की कटौती की जा रही थी. जबकि ट्रक चालकों को 6000 हजार रुपये वेतन और 200 रूपये प्रतिदिन भत्ता मिलता है. ऐसे में उनके लिए आर्थिक संकट आ गया था.

    ट्रक चालकों ने सोमवार को मामला उजागर किया तो उस समय वखार महामंडल के वजन काटे और राशन सप्लाई करनेवाली ट्रान्सपोर्ट कंपनी के प्रबंधक द्वारा लाये गए वजन काटे में अंतर पाया गया था. परंतु मंगलवार को जब वजन माप अधिकारी ने वखार महामंडल पडोली का वजन काटा चेक किया तो वह सही पाया गया. इस पर 50 से 60 वाहन चालकों ने अपने वाहन खडे कर हडताल शुरू कर दी. दो दिनों से राशन की आपूर्ति पूरी तरह से ठप है.

    वजन काटा विभाग के अधिकारी मोरे का कहना है कि उन्होने वजन काटे की जांच जिसमें उन्होने वजन काटे को सही पाया है. इस समय जितेंद्र मोरे, डीएसओ गणवीर, गोदाम के प्रबंधक रेडलावार, ट्रान्सपोर्ट के प्रतिनिधि अमोल पाटिल आदि उपस्थित थे.