Devendra Fadnavis
देवेंद्र फड़नवीस

Loading

नासिक. महाराष्ट्र (Maharashtra) के उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने राज्य में बिगड़ती कानून-व्यवस्था की स्थिति को लेकर विपक्षी दलों के आरोपों पर शनिवार को कहा कि हाल की गोलीबारी की घटनाएं आरोपियों और पीड़ितों के बीच व्यक्तिगत दुश्मनी के कारण हुईं। पत्रकारों से बातचीत में फडणवीस ने कहा कि इन अपराधों में दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। फडणवीस के पास गृह विभाग का कार्यभार है।

शिवसेना (यूबीटी) नेता अभिषेक घोसालकर की बृहस्पतिवार को ‘फेसबुक लाइव’ सत्र के दौरान मुंबई में गोली मारकर की गई हत्या के बाद विपक्षी दलों ने फडणवीस पर तीखा हमला किया है। पिछले हफ्ते भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक विधायक ने कल्याण से एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना के एक नेता पर गोली चला दी थी।

भाजपा के वरिष्ठ नेता फडणवीस ने कहा, “जो भी घटनाएं हुई हैं, वे व्यक्तिगत दुश्मनी के कारण हुईं। मैं इस बात से असहमत नहीं हूं कि वे गंभीर प्रकृति की हैं, लेकिन व्यक्तिगत विवादों के कारण होने वाले अपराधों को कानून-व्यवस्था से जोड़ना गलत है।” शिवसेना यूबीटी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शनिवार को राज्य में कानून व्यवस्था को लेकर महाराष्ट्र सरकार को बर्खास्त करने और राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की मांग की। शिवसेना (यूबीटी) नेता विनोद घोसालकर के बेटे अभिषेक घोसालकर (40) की बृहस्पतिवार शाम ‘फेसबुक लाइव’ सत्र के दौरान स्थानीय व्यवसायी और सामाजिक कार्यकर्ता मौरिस नोरोन्हा ने गोली मारकर हत्या कर दी।

पुलिस के अनुसार, नोरोन्हा ने बाद में खुदकुशी कर ली। इससे पहले, भाजपा विधायक गणपत गायकवाड़ ने भूमि विवाद और राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता को लेकर दो फरवरी को मुंबई के पास उल्हासनगर के एक थाने में शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना के एक स्थानीय नेता को गोली मारकर घायल कर दिया था।

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने भी महाराष्ट्र में घोसालकर की गोली मारकर हत्या और एक पत्रकार की कार पर हमले की घटनाओं को लेकर भाजपा पर हमला किया और आरोप लगाया कि कानून-व्यवस्था “ध्वस्त” हो गई है और एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली सरकार के दौरान “गुंडा राज” फैल रहा है। (एजेंसी)