बाढ के पश्चात मुआवजा मिला क्या?- केंद्रीय दल ने मदद को लेकर किसानों से पुछा सवाल

  • बाढग्रस्त क्षेत्र की दस्ते द्वारा दुसरी बार निरीक्षण 

गडचिरोली. जिले के 4 तहसीलों में अगस्त माह में आए बाढ के कारण बाधित हुए क्षेत्र की निरंतर दुसरी बार निरीक्षण के लिए गुरूवार 24 दिसंबर को केंद्रीय दल जिले में दाखिल हुआ. इस दल के सदस्यों द्वारा दुसरी बार बाढग्रस्त क्षेत्रों का निरीक्षण करते हुए किसानों से संवाद किया. इस समय केंद्रीय दस्ते के सदस्यों ने किसानों को बाढ की स्थिती के पश्चात सरकार से मुआवजा मिला क्या? नूकसान हुए क्षेत्र में अब क्या है व कितना उत्पादन हुआ ? ऐसे सवाल पुछते हुए मुआवजे को लेकर विस्तृत जांच की. 

केंद्रीय दल के सदस्यों ने गुरूवार को देसाईगंज तहसील के सावंगी, कोंढाला इन गांवों में तो आरमोरी तहसील के देऊलगांव इन गांवों के किसानों से संवाद किया. इस समय बाधित क्षेत्र के वर्तमान स्थिती का निरीक्षण भी किया. दाखिल हुए केंद्रीय दल में सहसचिव, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन तथा दल प्रमुख रमेशकुमार गंटा, वित्त मंत्रालय के सल्लागार आर. बी. कौल उपस्थित थे. साथ में विभागीय आयुक्त संजीव कुमार, जिलाधिकारी दीपक सिंगला, उपविभागीय अधिकारी विशाल मेश्राम इनके साथ देसाईगंज व आरमोरी के तहसीलदार उपस्थित थे. इसके पश्चात जिलास्तर पर संबंधित विभाग के प्रमुखों से संवाद किया. 

बाढ स्थिती के निरीक्षण के पश्चात केंद्रीय दल के सदस्यों ने जिला नियोजन समिति सभागृह में आयोजित बैठक में विभीन्न सार्वजनिक इमारते, सडक तथा बिजली महामंडल का हुआ नुकसान इस संदर्भ में चर्चा की. इस संदर्भ का निधी अबतक मंजूर होना बाकी है. इस बैठक में जिलाधिकारी दीपक सिंगला, पुलिस अधीक्षक अंकित गोयल, मुख्य कार्यकारी अधिकारी कुमार आशिर्वाद व चंद्रपूर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी उपस्थित थे.

जिले के बाढग्रस्तों को मिली मदद 

बाढ की स्थिती के दौरान 4 तहसीलों के कुल 219 गांव प्रभावित हुए थे. इसमें से 24 हजार 676 किसानों के 18 हजार 263 हेक्टेयर धान, 3 हजार 929 हेक्टेयर कपास ऐसा कुल 22 हजार 193 हेक्टेयर खेतों का नुकसान हुआ था. इन सभी क्षेत्र के पंचनामे कर सरकार की ओर से 237 करोड रूपये नुकसान मुआवजा मंजूर हुआ. जिसमें से 99.49 प्रश निधी वितरीत किया गया है. वहीं 48 घंटो से अधिक समय तक बाढ के पानी में डूबे रहे घरों के 645 परिवारों को तत्काल मदद स्वरूप 10 हजार रूपये तहत 64.6 लाख रूपये वितरीत किए गए.

बाढ के कारण जिले में 1 व्यक्ति की मृत्यू हुई थी. उसे 4 लाख रूपयों की मदद द गई है. कुछ जगह मवेशियों का नुकसान हुआ. उनके लिए 54 हजार मदद दी गई. घरों में पूर्ण नुकसान हुए 6 मकान तो कुछ मात्रा में नुकसान हुए 72 मकान व पूर्ण नुकसान हुए मवेशियों के तबले 10 ऐसे कुल 9 लाख 73 हाजर का मुआवजा दिया गया. इस मदद के संदर्भ में दल के जायजा लिया. उक्त मदद में राज्य व केंद्र ऐसे दोनों निधी का समावेश है. 

आज भी कुछ गांवों के देंगे भेट 

आज गुरूवार को केंद्रीय दल के सदस्यों ने जिले के देसाईगंज तहसील के सावंगी, कोंढाला तो आरमोरी तहसील के देऊलगाव बाढग्रस्त क्षेत्रों का निरीक्षण किया. शुक्रवार को उक्त दल फिर से कुछ गांवों को भेट देनेवाला है. ऐसी जानकारी है. गडचिरेाली व आरमोरी तहसील के कुछ गांवों का समावेश है. इस भेट के दौरान सडक, सार्वजनिक इमारते व खेतों का निरीक्षण किया जानेवाला है. इसके पश्चात दस्ता चंद्रपूर के लिए रवाना होनेवाला है.