paddy centers

    गड़चिरोली.  तहसील कुछ हिस्सों में धान फसल की कटाई और कुटाई कर एक माह की कालावधि बित गयी है. लेकिन अब तक सरकार द्वारा समर्थन मूल्य धान खरीदी केंद्र शुरू नहीं किया गया है. जिससे कारण किसानों को मजबूरी में अल्प दाम में व्यापारियों को अपना माल बेचना पड़ रहा है. जिससे तहसील में सरकारी धान खरीदी केंद्र शुरू करने की मांग तहसील के किसानों ने की है.

    धानोरा तहसील में समर्थन मृूल्यआधार पर खरीदी-बिक्री सोसायटी के माध्यम से धान खरीदी किया जाता है. हल्के जाति के धान फसलों की कटाई और कुटाई का कार्य अक्टूबर माह में पूर्ण हो गया. जिससे धान कहा रखें? ऐसा सवाल किसानों के सामने उपस्थित हुआ है. वहीं मध्यम व भारी प्रजाति के धान की कटाई भी पूर्ण हो गयी है. वर्तमान स्थिति में कुटाई का कार्य शुरू है. लेकिन धान खरीदी केंद्र शुरू नहीं होने के कारण अनेक किसानों को वित्तीय संकट का सामना करना पड़ रहा है. वहीं दुसरी ओर व्यापारी वर्ग द्वारा किसानों को अल्प दाम देकर वित्तीय लुट की जा रही है.

    किसान वर्ग संकट में

    तीन माह पहले किसान वर्ग ने सातबारह ऑनलाईन कर धान बिक्री के लिये पंजीयन किया. लेकिन खरीदी केंद्र शुरू नहीं होने के कारण निजि व्यापारियों को कवडीमोल दाम में धान बेचना पड़ रहा है. जिससे किसानों की वित्तीय लुट हो रही है. शुरूआत में पानी के अभाव धान खराब हो गये थे. इसे बाद धान फसल पर किडों का प्रकोप हुआ. और हाल ही में अकाली बारिश के काटे हुए धान फसल भीग गये. और अब उत्पादित धान खरीदने के लिये सरकार द्वारा किसी भी तरह की प्रक्रिया नहीं चलाई जा रही है. जिससे कारण किसान वर्ग संकट में पड़ गया है.