ग्रामीण क्षेत्र में ग्रापं चुनाव की धुम – उम्मीदवारी के लिए दस्तावेजों के जुगाड में लगे इच्छूक

गडचिरोली/चामोर्शी. जिले के 361 ग्रामपंचायत चुनाव का कार्यक्रम घोषित हुआ होकर इस चुनाव के लिए इच्छूक उम्मीदवारों के साथ राजनितिक दल के हलचले शुरू हुए है. स्थानीलय स्वराज्य संस्था के सबसे महत्वपूर्ण चुनाव के लिए ग्रापं चुनाव की ओर देखा जाता है. जिससे महज कुछ दिनों पर आए ग्रापं चुनाव की धुम जिले के ग्रामीण अंचल में दिखाई देने लगी है. उम्मीदवारी के लिए इच्छूक दस्तावजों के जुगाड में दिखाई दे रहे है. दस्तावेंजों के जुगड में उम्मीदवारों को व्यापक मशक्कत करनी पड रही है. 

2 चरणों में होनेवाले जिले के 361 ग्रामपंचायत चुनाव की हलचल ग्रामीण क्षेत्र में दिखाई देने लगी है. पहले चरण के लिए नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख 30 दिसंबर तो दुसरे चरण में नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख 1 जनवरी है. ग्राम पंचायत चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करेन के लिए आवश्यक दस्तावेजों की तथा आरक्षीत जगह पर चुनाव लढना हो तो विभीन्न दस्तावेजों के साथ्ज्ञ ही जाति प्रमाणपत्र व जाति वैद्धता प्रमाणपत्र निकालने के लिए इच्छूकों के साथ ही पैनल प्रमुखों की भागदौड शुरू होने का चित्र ग्रामीण क्षेत्र में देखने को मिल रहा है. इन विभीन्न दस्तावेजों की पूर्ति के लिए शहर के विभीन्न सेतू केंद्र पर भीड बढने का चित्र निर्माण हुआ है. 

सरपंच पद के आरक्षण की घोषणा चुनाव के बाद ही होनेवाली है. जिससे चुनाव की चुरस और बढी है. विभीन्न प्रवर्ग के लिए आरक्षण निकलने के पश्चात ही उम्मीदवारी दे या नहीं यह निश्चित किया जा सकता है. मात्र विजय होने के पचात ही सरपंच पद की स्थिती स्पष्ट होनेवाली है, ऐसे में चुनाव की रंगत और बढी है. चुनाव के पश्चात ही सरपंच पद का आरक्षण घोषित होने से सभी को चुनाव लढना आवश्यक बना है. अनेक उम्मीदवारों ने खुले प्रवर्ग के जगह के लिए गांव के नागरिकों से नजदिकीयां बढाई है, वहीं आरक्षीत जगह के लिए गांव से ही अनेक सक्षम विकल्प खोजने की  प्रक्रिया शुरू है. 

गुलाबी थंडी में गर्माया राजनितिक माहौल

जिले के ग्रामीण क्षेत्र के गांव गांव में गुलाबी ठंड में ग्राम पंचायत चुनाव के गांव की चर्चाएं शुरू हुए है. इसमें उचित उम्मीदवार मिले, इसके लिए पैनल प्रमुख जांच कर रहे है. वहीं इच्छूक दस्तावेज इकट्टा करने के कार्य में व्यस्त नजर आ रहे है. गांव स्तर पर होनेवाले स्थानीय स्वराज्य संस्था के रूप में ग्राम पंचायत कार्य करती है. इसके लि गांव स्तर की राजनितिक माहौल इस गुलाबी ठंड में गर्माने की स्थिती दिखाई दे रही है. 

नामांकन के लिए दस्तावेजों की आवश्यकता 

नामांकन दाखिल करते समय अनामत राशी जमा करना, उम्मीदवार दुसरे प्रभाग का मतदाता होने पर उस संदर्भ का उतारा, घोषणापत्र गुन्हेगारी पार्श्वभूमी न होने संदर्भ का व मालमत्ता संदर्भ का, अपत्य के संदर्भ का घोषणापत्र, हमीपत्र, जाति वैधता प्रमाणपत्र,चुनावी खर्च दाखिल करने संदर्भ में अनर्थ घोषित न करने संदर्भ का दस्तावेज, हमीपत्र चुनाव खर्च पेश करेन संदर्भ का प्रमाणपत्र साधे कागज पर, महिला के मायके का जाति प्रमाणपत्र होने पर 100 रूपये के बॉंड पेपर पर शपथपत्र, शौचायल होने का प्रमाणपत्र ग्रामसेवक, ग्रामपंचायत के ठेकेदार न होने संदर्भ का ग्रामसेवक का प्रमाणपत्र, ग्रामपंचायत बकायादार न होने काग्रामसेवक का प्रमाणपत्र यह दस्तावेज मुल प्रत में तो मतदाता चुची में नाम होने का उतारा, जाति प्रमाणपत्र (जाति वैधता प्रमाणपत्र न होने पर हमीपत्र व समिति की ओर पेश करने की रसीद) शैक्षणिक दस्तावेज टीसी, सनद आदि. पहचानपत्र (चुनाव पहचानपत्र, आधार कार्ड), ग्रामसेवक का निवासी प्रमाणपत्र इन प्रमाणपत्रों की आवश्यकता है.