Ashram school classes closed

Loading

  • प्रकल्प अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

अहेरी. तहसील के व्यंकटापुर में स्थित सरकारी आश्रमस्कूल की 1 से 4 तक कक्षाएं वर्ष 2016 से बंद हुई है. इसी के साथ ही 5 से 10 तक कक्षाओं में शिक्षारत छात्रों को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. जिससे आश्रमस्कूल की बंद पड़ी कक्षाएं शुरू करने के साथ ही आश्रमस्कूल की सभी कक्षाएं सुचारू रूप से चलाने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने एकात्मिक आदिवासी विकास प्रकल्प अधिकारी कार्यालय पद दस्तक देते हुए मांग का ज्ञापन प्रकल्प अधिकारी को सौंपा है. 

ज्ञापन में कहा है कि व्यंकटापुर में सरकारी आश्रमस्कूल है. इस आश्रमस्कूल में पूर्व 1 से 10 तक की कक्षाएं थी. लेकिन वर्ष 2016 से 1 से 4 तक की कक्षाएं बंद हुई है. जिससे इस परिसर के गांवों के आदिवासी छात्रों को प्राथमिक शिक्षा से वंचित होना पड़ा है. वहीं उनका व्यापक शैक्षणिक नुकसान हो रहा है. कक्षा 1 से 4 तक बच्चों के उन्नती का का पहला कदम होता है. लेकिन यह पहला कदम रखने के द्वार ही बंद हुए है. वहीं कक्षा 5 से 10 तक कक्षाओं की भी शैक्षणिक स्थिती भी बिकट है.

जिसके तहत आश्रमस्कूल के छात्रों की ओर उचित ध्यान नहीं दिया जाता है, मुख्याध्यापक व शिक्षकों को द्वारा विद्यार्थियों को गालीगलौच किया जाता है. यहां कार्यरत शिक्षक अक्सर अनुपस्थित रहते है. शनिवार को स्कूल छोडकर जाने पर सिधे मंगलवार को ही लौटते है. और विद्यार्थियों की ओर अनदेखी करते है. जिस कारण आश्रमस्कूल में विद्यार्थियों की पटसंख्या भी गिर रही है. जिससे स्कूल के मुख्याध्यापक, शिक्षक व कर्मीयों पर उचित कार्रवई कर शाला पूर्ववत शुरू करे. बंद किए गए कक्षाएं शुरू करने की मांग ग्रामीणों ने ज्ञापन में की है.