PMAY, Gharkul

Loading

गोंदिया. ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले नागरिकों को स्वयं का आवास प्रदान करने केंद्र सरकार की ओर से प्रधानमंत्री आवास योजना शुरू की गई है. योजना का लाभ लेने तहसील के गरीब परिवारों ने आवेदन किया. गोंदिया पंचायत समिति कार्यालय के अनुसार दिए गए लक्ष्य के तहत तहसील के 110 ग्रापं अंतर्गत 6 वर्षो में 26 हजार 222 लाभार्थियों को आवास के लिए मंजूरी प्रदान की गई. जिसमें से 25,493 लाभार्थियों को आवास योजना का लाभ दिया गया. विशेष यह है कि तहसील के 279 लाभार्थी आज भी आवास योजना के लाभ से वंचित है.

उल्लेखनीय है कि योजना अंतर्गत आवास बनाने ग्रामीण क्षेत्रों के लाभार्थियों को 1 लाख 30 हजार रुपए का अनुदान दिया जाता है. इसके तहत तहसील के 110 ग्रापं अंतर्गत ग्रामीणों ने आवेदन किया. जिसमें वर्ष 2016-17 में मंजूर 1254 में से 1240, वर्ष 2017-18 में मंजूर 2888 में से 2864, वर्ष 2018-19 में मंजूर 1238 में से 1232, वर्ष 2019-20 में मंजूर 5810 में से 5729, वर्ष 2020-21 में मंजूर 12120 में से 11920, वर्ष 2021-22 में मंजूर 2912 में से 2508 लाभार्थियों को आवास योजना का लाभ दिया गया.

इसके तहत 6 वर्षों में गोंदिया तहसील के कुल 26,222 में से 25,493 नागरिकों को योजना का लाभ दिया गया, लेकिन आज भी तहसील के 729 लाभार्थी आवास योजना के लाभ से वंचित है. विशेष यह है कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के नाम में बदलाव कर मोदी आवास योजना किए जाने की वजह से 2023-24 चालू वर्ष में मंजूर 3715 में से किसी लाभार्थी को लाभ नहीं मिला है.

1,829 को मिला रमाई आवास

अनुसूचित जाति व नवबौध्द घटक के परिवारों को राहत देने तथा उनके आवास का प्रश्न हल करने के लिए रमाई आवास योजना शासन की ओर से चलाई जा रही है. योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र लाभार्थी को 1 लाख 32 हजार रुपए का अनुदान दिया जाता है. इस योजना के गोंदिया तहसील अंतर्गत 2016 से लेकर 2023 तक 2 हजार 51 ग्रामीण लाभार्थियों ने आवेदन किया था. जिसमें से 2 हजार 45 लाभार्थियों को मंजूरी प्रदान की गई. मंजूर लाभार्थियों में से 1 हजार 826 लाभार्थियों को रमाई आवास योजना का लाभ मिला तथा 219 लाभार्थी इस योजना के लाभ से वंचित है.

आदिवासी समाज के परिवारों को अपना स्वयं का आवास मिल सके इसके लिए शासन की ओर से शबरी आवास योजना लागू की गई है. योजना के तहत आदिवासी लाभार्थी को 1 लाख 20 हजार रुपए अनुदान दिया जाता है. तहसील अंतर्गत ग्रामीणों को शबरी आवास योजना के अंतर्गत 2016 से 2023 तक 6 वर्षों में मंजूर 639 आवासों में से 472 लाभार्थियों को लाभ दिया गया. आज भी 167 लाभार्थी योजना का लाभ मिलने की प्रतीक्षा में है.