शिरपुर तालुका में घोषित करें गीला अकाल, भाजपा ने सौंपा जिलाधिकारी को ज्ञापन

    धुलिया. मानसून (Monsoon) की लौटती बारिश (Rain) ने शिरपुर तहसील (Shirpur Tehsil) में गत दिनों भारी तबाही मचाई और किसानों (Farmers) की खड़ी फसलें बर्बाद हो गईं। किसानों को सरकारी स्तर पर राहत राशि उपलब्ध कराने की मांग को लेकर भाजपा विधायक काशीराम पावरा (BJP MLA Kashiram Pavara), जिला परिषद अध्यक्ष डॉ. तुषार रंधे, भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष बबनराव चौधरी और पार्टी पदाधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल जिला कलेक्टर जलज शर्मा को ज्ञापन (Memorandum) सौंपकर जिले में गीला अकाल घोषित कर मुआवजा देने की मांग की।

    बारिश ने धुलिया और नंदुरबार जिले में हाहाकार मचा कर किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचाया है। वर्तमान विधायक तथा पूर्व मंत्री अमरीश पटेल ने तीन दिन पहले धुलिया जिला कलेक्टर और नंदुरबार जिला कलेक्टर से गीला अकाल घोषित करने की मांग की थी। इसी क्रम में बीजेपी ने आघाड़ी सरकार पर दबाव बनाने के लिए शुक्रवार को शिरपुर तहसील में एक समान रूप से गीला अकाल घोषित करने की गुहार लगाई।

    फसलों को हुआ नुकसान

    जिलाधिकारी जलज शर्मा को सौंपे गए ज्ञापन में भाजपा ने कहा है कि शिरपुर तालुका के साथ-साथ धुलिया और नंदुरबार जिले में सितंबर और अक्टूबर माह में बेमौसम बारिश के कारण फसलों, बागों और खेत में रखी उपज का भारी नुकसान हुआ है।  कई जगहों पर नदियों और नालों में पानी भर गया है और खेतों में पानी जमा हो गया है। इसके चलते फसलों को भारी नुकसान हुआ है।  कृषि क्षेत्र में लगातार बारिश के कारण फसलें खराब हो गई हैं। धुलिया और नंदुरबार जिलों में शुष्क भूमि, बागवानी, वार्षिक बागवानी फसलों के साथ-साथ पशुधन, मवेशी और अन्य संपत्तियों को भारी नुकसान पहुंचा है। जिलाधिकारी शर्मा को शिरपुर तालुका में कृषि के नुकसान के संबंध में विधायक, जिला परिषद अध्यक्ष, भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष बबनभाऊ चौधरी, जिलाध्यक्ष के. डी. पाटिल ने विस्तार से जानकारी दी। किसानों को वित्तीय सहायता और पूरे साल  बिजली बिल और फसल ऋण माफ करने की मांग प्रशासन से की। कलेक्टर शर्मा ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया कि वह सरकार को उचित रिपोर्ट भेजकर न्याय दिलाने का प्रयास करेंगे।

    इनकी रही उपस्थिति

    इस अवसर पर भाजपा तालुकाध्यक्ष किशोर माली, पूर्व जिला महासचिव अरुण धोबी, पंचायत समिति सभापति सत्तारसिंह पावरा, शिरपुर कृषि उत्पन्न बाजार समिति सभापति नरेंद्रसिंह सिसोदिया, उपसभापति इशेंद्र कोली, संचालक नरेंद्र पाटील, शिरपुर शेतकरी शक्कर कारखाना चेयरमैन माधवराव पाटील, वाइस चेयरमैन दिलीप पटेल, शक्कर कारखाना संचालक जयवंत पाडवी, रमण पावरा, जगन टेलर पावरा, जे. टी. पाटील और अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।