Mosquitoes in Dhulia city, Municipal Corporation prepared squad

    धुलिया. शहर में डेंगू के मरीजों (Dengue Patients) की बढ़ती संख्या को देखते हुए कमिश्नर  देवीदास टेकाले (Commissioner Devidas Tekale) ने पूरी यंत्रणा की समीक्षा कर वार्डवार योजना (Ward Wise Plan) बनाकर इस संबंध में प्रभावी कार्रवाई (Effective Action) करने के निर्देश दिए है।

    इन दिनों बीमारियों का संक्रमण (Infection) काल चल रहा है और इस दौरान मच्छरों के बढ़ने की प्रबल संभावना है। इसके कारण डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया जैसी बीमारियां अत्यधिक प्रचलित है। इसी पृष्ठभूमि में कमिश्नर देवीदास टेकाले ने हाल ही में हुई बैठक में महानगरपालिका द्वारा किये जाने वाले उपायों और नियुक्त ठेकेदार द्वारा की जा रही कार्रवाई की समीक्षा की। उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों का भी दौरा किया और चल रही कार्रवई के बारे में जाना।

    टीम नियुक्त की गई है

    इस अभियान को और प्रभावी बनाने के लिए शहर को चार हिस्सों में बांटा गया है और इस हिस्से के लिए नियंत्रण अधिकारियों और कर्मचारियों की एक टीम नियुक्त की गई है। वार्ड संख्या 7,8,9,10,11, 12 एवं 13 14 18 19 के लिए अपर आयुक्त नितिन कपदाणिस को नियंत्रण अधिकारी और सहायक आयुक्त नारायण सोनार किशोर सुदके को सहायक नियंत्रण अधिकारी एवं सहायक स्वास्थ्य को प्रमुख नियुक्त किया गया है।

    दस्ते के अधिकारी लक्ष्मण पाटिल और स्वच्छता निरीक्षक राजेश वसावे को नियुक्त किया गया है। साथ ही प्रभाग क्रमांक 1 से 5 और 6,8,15,16 और 17, इनके लिए उपायुक्त गणेश गिरी को नियंत्रण अधिकारी नियुक्त किया गया है। सहायक नियंत्रण अधिकारी के रुप में सहायक आयुक्त पल्लवी शिरसाठ, उप लेखापाल बलवंत रणालकर को नियुक्त किया गया है। सहायक स्वास्थ्य अधिकारी चंद्रकांत जाधव और संदीप मोरे को भी टीम प्रमुख बनाया गया है। साथ ही दोनों दस्तों के नियंत्रण में संबंधित क्षेत्र में कनिष्ठ अभियंता मलेरिया पर्यवेक्षक के साथ-साथ मुकादम को भी दिया गया है।

    दैनिक रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएगी

    वार्ड की दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों की समीक्षा नियुक्त अधिकारी द्वारा की जाएगी और टीम का निरीक्षण वार्ड में किया जाएगा। संबंधित ठेकेदार द्वारा की जाने वाली गतिविधियों का निरीक्षण करने के बाद दैनिक रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएगी। इसमें लार्वा नाशक दवाई का छिड़काव करने वाले कंटेनर का सर्वेक्षण, दूषित कंटेनरों को खाली करना, धुआं स्प्रे क्षेत्र और संदिग्ध रोगी के घर के अंदर छिड़काव, गप्पी मछली के साथ-साथ सेप्टिक पाइप जाल और जन जागरूकता को छोड़ना शामिल है।

    महानगरपालिका व्यवस्था में सहयोग करें

    धुलिया महानगरपालिका नागरिकों से अपील कर रहा है कि वे इसका संज्ञान लें और महानगरपालिका व्यवस्था में सहयोग करें। मच्छरों की उत्पत्ति को रोकने के लिए, धुलिया महानगरपालिका सूखे दिन का पालन करके परिसर और घर को साफ रखने और वैकल्पिक रूप से अपने परिवार की रक्षा करने की अपील कर रहे  है।