अनिल परब ने किरीट सोमैया के खिलाफ दाखिल किया 100 करोड़ रुपए का मुकदमा

    मुंबई. राज्य के  परिवहन मंत्री अनिल परब (Anil Parab) ने  भाजपा नेता और पूर्व सांसद किरीट सोमैया (Former MP Kirit Somaiya) के खिलाफ 100 करोड़ रुपए  के मानहानि (Defamation) का मुकदमा मुंबई उच्च न्यायालय (Mumbai High Court) में दाखिल किया है। जिस पर जल्द ही सुनवाई की तारीख मुकर्रर हो सकती है। भाजपा नेता सोमैया ने कई मत्रियों और महाविकास आघाड़ी से जुड़े नेताओं पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। इसमें परिवहन मंत्री अनिल परब का नाम शामिल है। 

    पिछले दिनों परब ने वकील के मार्फत सोमैया को नोटिस देकर आरोपों के लिए 72 घंटों के अंदर बिना शर्त माफी मांगने के लिए कहा था। उन्होंने चेतावनी दी थी कि माफी नहीं मांगने पर 100 करोड़ रुपए  के मानहानि का मुकदमा दायर किया जाएगा।  परब की तरफ से उच्च न्यायालय में दायर शिकायत में कहा गया है कि सोमैया ने सुर्खियों में बने रहने के लिए उनकी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाया है। राज्य के परिवहन मंत्री ने सोमैया के खिलाफ भविष्य में उनके खिलाफ ऐसा कोई बयान देने या प्रकाशित करने पर स्थायी रोक लगाने की भी मांग की है।

    सोमैया ने नोटिस का जवाब नहीं दिया 

    याचिका में कहा गया है कि सोमैया झूठे बयान दे रहे हैं और आरोप लगा रहे हैं कि परब आपराधिक और भ्रष्ट गतिविधियों में लिप्त हैं। परब ने पिछले हफ्ते अपनी वकील सुषमा सिंह के जरिए भाजपा के पूर्व सांसद सोमैया को कानूनी नोटिस भेजा था। परब ने कहा कि सोमैया ने नोटिस का जवाब नहीं दिया इसलिए उन्हें उच्च न्यायालय का रुख करने के लिए मजबूर होना पड़ा। याचिका में कहा गया है कि सोमैया मई 2021 से रत्नागिरि जिले के दापोली में एक रिसॉर्ट के निर्माण के संबंध में परब की संलिप्तता का आरोप लगाकर सोशल मीडिया पर बदनाम करने के अभियान में लिप्त थे। जबकि उक्त रिसॉर्ट या उसके निर्माण से परब का कोई संबंध नहीं है। सोमैया की तरफ से प्रकाशित पोस्ट को सोशल मीडिया पर व्यापक रूप से प्रसारित किया जाता है, जिससे मंत्री की प्रतिष्ठा को नुकसान होता है। याचिका में आगे कहा गया है कि परब एक मंत्री के रूप में अपने कर्तव्यों का ईमानदारी और लगन से निर्वहन कर रहे हैं।