BKC Flyover Accident

    मुंबई. शुक्रवार की सुबह बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स (Bandra-Kurla Complex) और जेवीएलआर (JVLR) को जोड़ने वाले निर्माणाधीन पुल का गर्डर (Under-Construction Part of Flyover Collapses in Mumbai) अचानक एक तरफ गिर जाने से 14 मजदूर घायल (Injured) हो गए। एमएमआरडीए (MMRDA) द्वारा बनाए जा रहे इस उड़ानपुल दुर्घटना की जांच थर्ड पार्टी असेसमेंट एजेंसी और एमएमआरडीए के अधिकारी संयुक्त रूप से करेंगे। ऐसी घोषणा नगरविकास मंत्री एकनाथ शिंदे (Minister Eknath Shinde) ने की। 

    नगर विकास मंत्री एकनाथ शिंदे ने घटनास्थल का दौरा कर दुर्घटना की जानकारी ली। इस दौरान एमएमआरडीए आयुक्त एसवीआर श्रीनिवास और अन्य अधिकारी उपस्थित थे। शिंदे ने स्पष्ट किया कि घटना में घायल हुए श्रमिकों का इलाज एमएमआरडीए के माध्यम से किया जाएगा।

    लापरवाही से हुई दुर्घटना

     नगरविकास मंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि लापरवाही तो हुई है। यह  दुर्भाग्यपूर्ण है और जो भी इस दुर्घटना के लिए जिम्मेदार होगा उसे कड़ी सजा दी जाएगी। हालांकि दुर्घटना गर्डर के बेयरिंग और नट बोल्ट के बीच एक त्रुटि के कारण हुई, उन्होंने स्पष्ट किया कि जांच के बाद ही दोषियों पर मुकदमा चलाया जाएगा, साथ ही ऐसी दुर्घटनाओं को दोबारा होने से रोकने के लिए एकनाथ शिंदे ने एमएमआरडीए आयुक्त को निर्देश दिया। 

    काम की गुणवत्ता में कोई कमी नहीं : एमएमआरडीए आयुक्त 

    एमएमआरडीए आयुक्त श्रीनिवास ने कहा कि काम की गुणवत्ता में कोई कमी नहीं है, मात्र बेयरिंग के कारण स्लैब सरक गया।इसकी गंभीरता से जांच होगी। हादसे में मामूली रूप से घायल हुए 13 श्रमिकों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। मंत्री शिंदे ने स्वयं वीएन देसाई अस्पताल का दौरा कर घायलों से मुलाकात की।