ranibaug

    मुंबई:  भायखला (Byculla) स्थित वीरमाता जीजाबाई भोसले पार्क और चिड़ियाघर (Veermata Jijabai Bhosale Park and Zoo) में एक अच्छी तरह से सुसज्जित अस्पताल (Hospital) बनाया जा रहा है। अस्पताल में जानवरों के लिए एक विशेष गहन चिकित्सा इकाई (ICU) भी होगी। आने वाले वर्ष में अस्पताल को शुरु कर दिया जाएगा।

    चिडियाघर के निदेशक डॉ. संजय त्रिपाठी ने बताया कि वर्तमान में रानीबाग के बगीचे में छोटे जानवरों और पक्षियों के लिए एक अस्पताल है। अब पार्क में  बाघ और तेंदुए भी लाए गए हैं।आने वाले समय में विदेश से जिराफ, जेब्रा, कंगारु और देश के दूसरे जू से शेर सहित कई जानवार लाए जाने वाले हैं। इसलिए यहां बड़ा अस्पताल बनाया जा रहा है। निर्माणाधीन अस्पताल में सभी जानवरों के लिए आवश्यक सुविधाएं होंगी।

    60 करोड़ रुपये की लागत

    इस अस्पताल के साथ-साथ पक्षियों और पशुओं  के लिए अलग  आइसोलेशन कक्ष, बंदर प्रदर्शनी सुविधा, क्रोकोडाइल सुसर का निर्माण किया जा रहा है। चिड़ियाघर के चारों ओर आवश्यक दीवारों और कांटेदार तार की बाड़ का निर्माण भी किया जा रहा है।

    जानवरों के लिए अस्पताल में यह होगी सुविधा

    • इनक्यूबिनेशन सेंटर
    • सर्जरी विभाग
    • विविध परीक्षण सुविधा
    • क्षयचिकित्सा विभाग