GST
File Photo

    मुंबई. 9 करोड़ रूपये की जीएसटी चोरी करने के आरोप में मेसर्स प्रतिभा सीएसएल सुधीर कंस्ट्रक्शन के एक निदेशक को मुंबई क्षेत्र के सीजीएसटी विभाग ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया। इसके बाद आरोपी को वाशी मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया, जहां मजिस्ट्रेट ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। बता दें कि इस मामले में अगर कोई दोषी पाया जाता है तो उसे पांच साल तक की सजा हो सकती है।

    2016 में मिला था कॉन्ट्रैक्ट

    गौरतलब है कि महाराष्ट्र मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने 2016 में इस कंपनी को नागपुर में मेट्रो ट्रेन डिपो बनाने का कॉन्ट्रैक्ट दिया था। उस वक्त कंपनी ने 8.05 करोड़ रुपये जीएसटी का भुगतान नहीं किया था। इसलिए यह राशि ठेका दिए जाने के दो साल बाद 2018 में वसूल की गई। वहीं फर्जी दस्तावेज जमा कर 95 लाख रुपये का इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) हासिल किया गया।

    GST विभाग एक्टिव

    पिछले कुछ दिनों से जीएसटी विभाग का मुंबई जोन टैक्स चोरी और जाली दस्तावेज जमा कर आईटीसी हासिल करने वालों पर शिकंजा कसता जा रहा है। इसके तहत अब तक 415 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी का खुलासा हुआ है। इसमें से 18.63 करोड़ रुपये बरामद कर लिए गए हैं और दस लोगों को गिरफ्तार किया गया है। डेटा और नेटवर्क विश्लेषण के कारण अभियान अब तक सफल रहा है।

    5 महीने में 630 करोड़ रुपये की वसूली

    पिछले पांच महीनों में कुल 5,500 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी का मामला सामने आया है। इसमें से 630 करोड़ रुपये की वसूली की गई  और 47 लोगों को गिरफ्तार किया गया जा चूका है। इस संबंध में हाल ही में सीजीएसटी मुंबई जोन और महाराष्ट्र राज्य जीएसटी प्राधिकरण के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक हुई थी। इसमें कर चोरी करने वालों के खिलाफ कार्ययोजना तैयार करने का अहम फैसला लिया गया।