Bullet train
file

    मुंबई. प्रस्तावित मुंबई-हैदराबाद हाई स्पीड रेलवे (बुलेट ट्रेन ) के प्रोजेक्ट रिपोर्ट को लेकर काम शुरू हो गया है। सोमवार को मुंबई से हैदराबाद बुलेट ट्रेन को लेकर ठाणे के जिलाधिकारी कार्यालय में जनसुनवाई का आयोजन किया गया। नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन की इस परियोजना के बारे में सामाजिक और पर्यावरणीय जागरूकता पैदा करने के लिए ग्रामीणों और पर्यावरण कार्यकर्ताओं के बीच एक बैठक आयोजित की गई। 

    बैठक में उपजिलाधिकारी प्रशांत सूर्यवंशी, एनएचएसआरसीएल के डीजीएम एस।के। पाटिल, परियोजना सलाहकार एजिस इंडिया के निदेशक सत्यव्रत पांडे, शाम चौगुले उपस्थित थे। सूर्यवंशी के अनुसार  प्रस्तावित मुंबई-हैदराबाद हाई स्पीड रेलवे परियोजना की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करने का काम चल रहा है।  सलाहकार डॉ. अपर्णा कांबले और प्राजक्ता कुलकर्णी ने परियोजना पूर्व सामाजिक और पर्यावरण सर्वेक्षण की जानकारी दी।

    ड्रोन सर्वे शुरू

    मुंबई से हैदराबाद तक कुल 11 स्टेशन वाले इस ग्रीन कॉरिडोर मार्ग का ड्रोन सर्वे शुरू हो गया है। परियोजना के लिए लगने वाली जमीन का सर्वे गांव वालों को विश्वास में लेकर किया जाएगा। जिस क्षेत्र से रेलवे गुजरेगा वहां के ग्रामीणों को गांव में जाकर परियोजना की जानकारी दी जाएगी। परियोजना के लिए ठाणे जिले में लगभग 1200 हेक्टेयर भूमि की आवश्यकता होगी।

     ऐसा होगा प्रोजेक्ट

    • मुंबई से हैदराबाद हाई स्पीड रेलवे कुल 717  किमी. दौड़ेगी।
    • यह मार्ग होगा पूर्ण ग्रीन कॉरिडोर।
    • विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) की तैयारी चल रही है।
    • 10 डिब्बों में 750 यात्री परिवहन क्षमता होगी।
    • यात्रा की अवधि 14 घंटे से घटकर  3 घंटे हो जाएगी।
    • मुंबई ,ठाणे, नवी मुंबई, लोनावला, पुणे, बारामती, पंढरपुर, सोलापुर, गुलबर्गा, विकाराबाद और हैदराबाद स्टेशन होंगे।
    • हाई स्पीड रेलवे राज्य  के चार जिलों  ठाणे, रायगढ़, पुणे, सोलापुर से होकर गुजरेगी।