Aditya Thackeray

    मुंबई: महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) ने कहा कि मुंबई (Mumbai) की सभी सेवाओं (All Services) के लिए एक ही नियोजन प्राधिकरण के गठन की प्रक्रिया चल रही है।

    ‘जलवायु संकट 2.0: तटीय शहरों के लिए वित्त संग्रहण’ विषय पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में पर्यावरण एवं पर्यटन मंत्री ठाकरे ने कहा कि शहर के लिए एकल नियोजन एजेंसी राज्य सरकार को प्रशासनिक सुगमता और नागरिकों के जीवन में सुगमता प्रदान करेगी। 

    महापौर को और अधिकार देने पर विचार 

    सम्मेलन के मुख्य अतिथि मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि मुंबई जैसे शहर में 16 एजेंसियों को एकल प्राधिकरण के लिए एक साथ आना चाहिए।  उन्होंने कहा कि क्रियान्वयन एजेंसियां भिन्न हो सकती है, लेकिन यदि एकल नियोजन प्राधिकार होगा तो कम परेशानी होगी। उन्होंने कहा कि फिलहाल शहर में 16 अलग-अलग एजेंसियां हैं जो 42 सेवाएं देती हैं जिससे प्रक्रिया जटिल हो जाती हैं। उन्होंने कहा कि शहर के लिए मुख्य कार्यकारी अधिकारी नियुक्त करने के बजाय सरकार महापौर को और अधिकार देने पर विचार कर रही है।