Pragati Meshram

    नागपुर. निजी स्कूलों की तुलना में भले ही मनपा स्कूलों के छात्रों को कमजोर माना जाता रहा हो लेकिन लगातार यह तस्वीर बदलती जा रही है. हाल ही में 12वीं के परिणामों के बाद अब 10वीं बोर्ड के परिणामों ने इस पर मुहर लगा दी है. शुक्रवार को घोषित परिणामों में विशेष रूप से मनपा स्कूलों का परिणाम 99.31 प्रतिशत रहा. आलम यह रहा कि मनपा की 22 स्कूलों का परिणाम 100 प्रतिशत रहा. 10वीं परिणामों में मनपा स्कूलों का नाम रोशन करने वाले सभी छात्रों का प्रशासन की ओर से सत्कार किया गया. उल्लेखनीय है कि मनपा की सभी स्कूलों में प्रगति मेश्राम ने 92.60 प्रतिशत अंक हासिल कर पहला स्थान हासिल किया है.

    अंग्रेजी माध्यम का भी सराहनीय परीक्षाफल

    10वीं बोर्ड के घोषित परिणामों में मनपा अंतर्गत संचालित उर्दू माध्यम की स्कूलों का परिणाम 99.77 प्रतिशत रहा. इसके बाद दूसरे नंबर पर अंग्रेजी माध्यम की स्कूल का 99.31 प्रतिशत परीक्षाफल रहा. जबकि तीसरे नंबर पर हिन्दी माध्यम की स्कूलों का परिणाम 98.45 प्रतिशत रहा. बताया जाता है कि लंबे समय बाद ही सही लेकिन मनपा की अंग्रेजी माध्यम की स्कूलों में अथक परिश्रम के बाद यहां का परिणाम सराहनीय रहा है. जानकारों के अनुसार मनपा की अंग्रेजी माध्यम की केवल एक स्कूल है. जी.एम. बनातवाला मनपा अंग्रेजी माध्यम की स्कूल से आफरीन सदफ इरशाद ने 90.60 अंक हासिल कर प्रथम स्थान प्राप्त किया. जबकि इसी स्कूल से विकलांगों में बुशरा हबीब खान ने इस श्रेणी में प्रथम स्थान हासिल किया.

    टॉप पर रही प्रगति मेश्राम

    बताया जाता है कि मनपा की मराठी माध्यम, हिन्दी माध्यम, उर्दू माध्यम और अंग्रेजी माध्यम के अलावा सभी वर्ग में जयताला मराठी माध्यम स्कूल की छात्रा प्रगति धुरेन्द्र मेश्राम ने 92.60 अंक हासिल कर प्रथम स्थान प्राप्त किया. मराठी माध्यम से दुर्गानगर माध्यमिक स्कूल की सह्याद्री प्रवीण भुसारी ने 92.40 अंक लेकर दूसरा स्थान प्राप्त किया. जबकि राम मनोहर लोहिया स्कूल की धनश्री राजेन्द्र भेंडारकर ने 91 प्रतिशत अंक लेकर तीसरा स्थान प्राप्त किया. मनपा की सभी स्कूलों से 1,456 छात्रों ने परीक्षा में हिस्सा लिया था. जिसमें से 1,446 छात्र पास हुए. इसमें से 158 छात्र प्रावीण्य श्रेणी, 901 छात्र प्रथम श्रेणी, 365 छात्र द्वितीय श्रेणी में पास हुए.