Isolation compulsory for passengers going from India to Italy
Representative Image

  • नियमों का हो रहा लगातार उल्लंघन

नागपुर. कोविड-19 का ठंड के दिनों में दूसरा फेज शुरू होने की संभावना तथा कुछ राज्यों में कोरोना के दुष्प्रभाव को देखते हुए राज्य सरकार की ओर से गोवा,अहमदाबाद,राजस्थान और दिल्ली जैसे शहरों से आनेवाली उड़ानों के यात्रियों को कोरोना टेस्ट कराना अनिवार्य कर दिया था. किंतु आलम यह है कि इसका शुरूआत से ही पालन होता दिखाई नहीं दे रहा है.

यहां तक कि अब कोविड-19 के नए वर्जन स्ट्रेन के भयावह रूप को देखते हुए विशेष रूप से एअरपोर्ट पर अधिक सतर्कता बरतने की हिदायत दी जा रही है. किंतु इसे भी एअरपोर्ट एथॉरिटी गंभीरता से लेते दिखाई नहीं दे रही है. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि डॉ. बाबासाहब आम्बेडकर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आ रही उड़ानों में न केवल बिना टेस्ट यात्रियों की संख्या में वृद्धि हो रही है, वहीं पॉजिटिव पानेवाले यात्रियों की संख्या का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है. एक दिन पहले एअरपोर्ट पर 5 पॉजिटिव पाए गए थे. जबकि दूसरे ही दिन 7 यात्री पॉजिटिव पाए गए.

बिना टेस्ट 107 ने की यात्रा

बताया जाता है कि एअरपोर्ट पर कुल 7 उड़ाने पहुंची थी. जिसमें दिल्ली से 4, गोवा से 1 और अहमदाबाद से 2 फ्लाईट शामिल थी. 7 उड़ानों में कुल 793 यात्रियों ने यात्रा की थी. जिसमें से 107 यात्रियों के पास कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट ही नहीं थी. जिससे एअरपोर्ट पर इन यात्रियों की कोरोना टेस्ट कराई गई. जिसमें से 7 यात्री पॉजिटिव पाए जाने से खलबली मची हुई है. हालांकि इनमें कोई भी विदेश से लौटा यात्री नहीं है. किंतु घरेलू उड़ानों में भी सतर्कता जरूरी होने से इस तरह की लापरवाही को लेकर आश्चर्य जताया जा रहा है. विशेषत: युरोपिय देशों के बाद अन्य देश का चक्कर कर यहां आनेवाले यात्रियों को लेकर एसओपी जारी की गई थी. जिसके अनुसार गत 15 दिनों में इन देशों की यात्रा कर लौटे यात्रियों को स्वयं मनपा के कंट्रोल रूम में सूचना देनी है. 

1 माह में विदेश यात्रा वाले लोगों का विलगीकरण

कोविड-19 के नए वर्जन स्ट्रेन को लेकर केंद्र और राज्य सरकार की ओर से जारी दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने के लिए गुरूवार को मनपा आयुक्त राधाकृष्णन.बी ने एअरपोर्ट पर की गई व्यवस्था का जायजा लिया. विशेषत: अब जारी निर्देशों के अनुसार गत 1 माह के भीतर विदेश से यात्रा कर लौटे यात्रियों की जांच कर उन्हें विलगीकरण केंद्र में भेजने के सरकार के निर्देश है. इस संदर्भ में आयुक्त ने एअरपोर्ट पर तैनात कर्मचारियों को आवश्यक सूचनाएं दी. विलगीकरण के लिए मनपा की ओर से 9 होटल को निश्चित किया गया है. जो यात्री होटल में नहीं जाना चाहते हो, उनके लिए वीएनआईटी के विलगीकरण केंद्र में व्यवस्था की गई है. यहां पहुंचाने के लिए मनपा की ओर से बस व्यवस्था भी की गई है.