fire
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

    नागपुर. कामठी रोड उप्पलवाड़ी स्थित किसान गोल्ड इंडस्ट्री में सोमवार की सुबह करीब 6 बजे अचानक आग लग गयी. कुछ ही देर में आग पास के बाबा ताज इंडस्ट्रियल रिमोल्ड टायर सेंटर को भी अपनी चपेट में ले लिया. आग से काफी क्षति होने की जानकारी है. हालांकि, इस घटना में किसी प्रकार की काई जनहानि नहीं हुई. बताया जा रहा है कि शार्ट सर्किट की वजह से आग लगी.

    प्राप्त जानकारी के अनुसार सुबह करीब 6 बजे दमकल विभाग को प्लास्टिक की पाइप बनाने वाली किसान गोल्ड नामक कंपनी में आग लगने की जानकारी मिली. कुछ ही देर में 2 फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंची लेकिन प्लास्टिक ज्वलनशील पदार्थ होने की वजह से आग तेजी से फैली. बगल के एक और गोदाम को अपनी चपेट में ले लिया. ऐसे में अतिरिक्त फायर ब्रिगेड बुलाई गई. आग तेज होने के कारण 6 और गाड़ियों को भेजी गई. 

    दूर तक दिखीं आग की लपटें

    सुबह-सुबह हुई इस घटना से परिसर में हड़कम्प मच गया. रिमोल्डिंग टायरों में लगी आग ने भयानक रूप ले लिया था. आग इतनी तेजी से फैली की उठतीं लपटें और धुएं का गुबार दिखने लगा. जैसे-जैसे आग बढ़ती चली गई, परिसर में धुआं भी फैलने लगा. हालांकि अग्निशमन विभाग के त्वरित एक्शन से आग पर समय रहते काबू पा लिया गया. अन्यथा पूरा इंडस्ट्रियल एरिया ही भीषण आग की चपेट में आ सकता था. बताया गया कि पाइप के गोडाउन की दीवार के ठीक पास एक डीपी लगा हुआ है. संभावना जताई जा रही है कि इसी से निकली चिंगारी से शायद आग लगी हों, हालांकि अभी जांच जारी है. 

    बोरवेल, तालाब के पानी से बुझाया गया

    प्लास्टिक के पाइपों के बाद आग टायरों के गोदाम तक पहुंच गई. यहां भी रबर होने के चलते आग ने बहुत तेजी से रौद्र रूप लिया. कुछ ही देर में आग काबू से बाहर हो गई. हाल यह थे कि 8-8 फायर ब्रिगेड से भी इस पर काबू पाना नहीं हो रहा था. दमकलकर्मियों के पास इतना समय नहीं था कि वे बार-बार फायर ब्रिगेड को पानी लेने भेजते. ऐसे में आनन-फानन में वहीं पर लगे एक बोरिंग को शुरू करके पानी का इंतजाम किया गया. इससे भी काम न बनता देख पास के ही एक तालाब में जमा पानी आग बुझाने के लिए उपयोग किया जाने लगा. इस दौरान दमकलकर्मियों की भी सांसें फुल गई. स्थानीय लोगों ने भी दमकलकर्मियों का साथ निभाया, जिसके चलते 4 घंटे के भीतर ही भीषण आग पर काबू पा लिया गया. लेकिन तब तक माल जलकर खाक हो गया.