Belgium: all citizens will be given a booster dose of Covid-19 vaccine
Representative Image

    • 12,430 को सरकारी केंद्रों पर 18 प्लस अंतर्गत टीके
    • 1,530 को निजी केंद्रों पर वैक्सीन

    नागपुर. मनपा की ओर से धूम-धड़ाके से 18 प्लस का वैक्सीनेशन अभियान तो शुरू किया गया, लेकिन सरकार से वैक्सीन ही नहीं मिलने से अभियान लड़खड़ाता चलता रहा है. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हर दूसरे दिन वैक्सीनेशन सेंटर्स बंद रखे जा रहे हैं. सोमवार को 18 प्लस को 122 केंद्रों पर वैक्सीन देने की जोरशोर से घोषणा तो की गई, किंतु फिर मंगलवार को वैक्सीन सेंटर्स बंद रहने की जानकारी उजागर की गई है. अभियान शुरू होने के बाद से लगातार हर दूसरे दिन टीकाकरण बंद होने से अब 18 प्लस युवाओं में मायूसी दिखाई दे रही है. जिसका आलम यह है कि अब वैक्सीन लेने में दिलचस्पी कम होते जा रही है. जबकि सरकार अधिक से अधिक वैक्सीन लगाने की मंशा जाहिर कर रही है. सोमवार को 18 प्लस अंतर्गत सरकारी केंद्रों पर 12,430 तथा निजी सेंटर्स पर 1,530 को वैक्सीन लगाई गई.

    45 प्लस को कोवैक्सीन का टीका

    मनपा के अतिरिक्त आयुक्त राम जोशी ने कहा कि कोविशील्ड वैक्सीन उपलब्ध नहीं होने के कारण मंगलवार को किसी भी वर्ग के लोगों को यह वैक्सीन नहीं दी जा सकेगी. जबकि 45 प्लस अंतर्गत मेडिकल अस्पताल, इंदोरा चौक स्थित डॉ. बाबासाहब आम्बेडकर अस्पताल और महल रोग निदान केंद्र पर कोवैक्सीन का टीका लगाया जाएगा. 18 से 44 वर्ष के बीच के जिन युवाओं ने कोवैक्सीन का पहला डोज लिया है, उन्हें मेडिकल अस्पताल और महल रोग निदान केंद्रों पर दूसरा डोज दिया जाएगा. जिसके लिए ऑनलाइन पंजीयन अनिवार्य रखा गया है.

    जनता के साथ हो रहा खिलवाड़

    सूत्रों के अनुसार एक ओर जहां डेल्टा प्लस के नए वैरिएंट का हवाला देकर अनलॉक को पुन: लॉक करने की दिशा में ले जाया जा रहा है. वहीं दूसरी ओर कोरोना की त्रासदी से बचने के लिए वैक्सीनेशन भी नहीं किया जा रहा है. जिस तरह से सिटी में वैक्सीनेशन का अभियान चलाया जा रहा है, उससे सभी को वैक्सीन लगाने में लंबा समय लगने की संभावना है. पाबंदियां लादने के साथ ही कोरोना से निपटने वैक्सीनेशन अभियान तेज किया जाना चाहिए था. किंतु हर दूसरे दिन टीकाकरण बंद रखा जा रहा है. 

    पहला डोज 

    स्वास्थ्य सेवक 46,225

    फ्रंटलाइन वर्कर 53,292

    18 प्लस के युवा 1,32,551

    45 प्लस उम्र के 1,49,100

    45 प्लस कोमार्बिड 85,758

    60 प्लस सभी लोग 1,83,276

    पहला डोज – कुल 6,50,202

    दूसरा डोज

    स्वास्थ्य सेवक 25,253

    फ्रंटलाइन वर्कर 22,357

    18 प्लस के युवा 7,666

    45 प्लस उम्र के 42,119

    45 प्लस कोमार्बिड 21,103

    60 प्लस सभी लोग 87,592

    दूसरा डोज – कुल 2,06,090