32692 cusec water released from Nandur Madhmeshwar dam

    निफाड. नाशिक जिले के त्र्यंबकेश्वर (Trimbakeshwar), इगतपुरी तहसीलों (Igatpuri Tehsils) में मूसलाधार बारिश होने से गंगापूर (Gangapur), दारणा, कडवा बांधों (Kadwa Dams) से पानी का विसर्ग बड़ी मात्रा में शुरु किए जाने से नांदूरमधमेश्वर बांध से 32692 क्युसेक पानी (Cusec Water) जायकवाडी की दिशा में गोदावरी नदी में बहाया जा रहा है।

    नांदूरमधमेश्वर बांध के जलविभाजन क्षेत्र में अधिक पानी बढ़ जाने से निफाड तहसील के चांदोरी, सायखेडा, शिंगवे और करंजगाव इन गावों को कोई नुकसान हो इसके लिए 5 घुमावदार गेट से 32692 क्युसेक पानी बहाए जाने से गोदावरी नदी के किनारे बसे गांवों के लोगों को प्रशासन ने सतर्कता बरतने की अपील की है।

    बारिश के कारण सड़कों पर जमा पानी

    वहीं नाशिक के सातपुर क्षेत्र में बुधवार 22 को हुई भारी बारिश के कारण कई जगहों पर पानी भर गया है। सुबह से ही तेज बारिश के कारण सड़क पर पानी भर गया था। सावरकर नगर, पपीता नर्सरी, अशोक नगर, श्रमिकनगर, डॉ कराड सर्कल और अन्य निचले इलाकों में भारी बारिश के कारण सड़कों और गलियों में छोटे तालाब बन गए हैं।

    सातपुर जॉगिंग ट्रैक में भी तालाब का रूप दिखाई दिया। एैसे में सातपुर क्षेत्र में डेंगू मलेरिया फैलने की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है क्योंकि पानी से भी नालियों और सड़कों पर जमा हुए पानी में डेंगू मच्छरों के लार्वा के साथ मलेरिया के मच्छर पनपने की भी संभावना है। नागरिक मांग कर रहे हैं कि धुंआ छिड़काव कर सफाई अभियान चलाया जाए।