Congress does not campaign directly, Congress state president Nana Patole

    पुणे. कांग्रेस पार्टी (Congress Party) कोंकण (Konkan)और पश्चिमी महाराष्ट्र (Western Maharashtra) में भारी बारिश के कारण बाढ़ से हुए नुकसान की निगरानी के बजाय सहायता के सीधे वितरण पर ध्यान केंद्रित कर रही है। पुणे में आबा बागुल (Aba Bagul) की पहल से क्षेत्रों में मदद भेजी जा रही है । यह बात आज महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विधायक नाना पटोले (MLA Nana Patole) ने सरसबाग में आयोजित कार्यक्रम में कही।

    सहायता पर कांग्रेस का ध्यान

    नाना पटोले ने आगे कहा कि कांग्रेस ने हमेशा ऐसी प्राकृतिक आपदाओं में बचाने का बीड़ा उठाया है। सरकार के स्तर पर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण कर नुकसान का आंकलन करना जरूरी है। हालांकि, कांग्रेस पार्टी ने न केवल सर्वेक्षण पर बल्कि प्रत्यक्ष सहायता प्रदान करने पर भी ध्यान केंद्रित किया है और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को सहायता प्रदान करने के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस हमेशा बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आई है और आगे भी करती रहेगी। इस अवसर पर राज्य मंत्री डॉ. विश्वजीत कदम, पुणे शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रमेश बागवे, पूर्व मंत्री चंद्रकांत हंडोरे, पूर्व विधायक मोहन जोशी, नगरसेवक अविनाश बागवे और कांग्रेस के कार्यकर्ता मौजूद थे।

    इस अवसर पर आयोजक आबा बागुल ने कहा, “प्राकृतिक आपदा की स्थिति में बचाव के लिए तत्परता दिखाने में हमने हमेशा अग्रणी भूमिका निभाई है। दो साल पहले भी जब सांगली-कोल्हापुर इलाके में बाढ़ आई थी, तब भी बड़ी मदद मिली थी। हम अभी भी यही कर रहे हैं। हम इस मदद को इकट्ठा करेंगे और इसे सीधे नागरिकों को कलेक्टर या तहसीलदार को दिए बिना देंगे, ताकि उन्हें तुरंत मदद मिल सके। प्राकृतिक आपदा की स्थिति में बचाव में आना भी सभी का कर्तव्य है। वहीं, भारी बारिश से नदियों में बाढ़ आ रही है, जिससे भारी आर्थिक नुकसान हो रहा है और लोगों की जान चली गई है। इसे रोकने के लिए और अधिक निवारक उपायों की आवश्यकता है।

    हम इसके लिए प्रयास कर रहे हैं और कई विशेषज्ञ नगर योजनाकारों से परामर्श करके और पूरे कोंकण और पश्चिमी महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों का सर्वेक्षण करने के बाद, यदि ऐसी भारी बारिश फिर से होती है, तो बाढ़ नहीं होनी चाहिए। हमने एक मास्टर प्लान तैयार करने का निर्णय लिया है ताकि, इसके लिए कुछ निवारक उपाय किए जा सकें और इसका काम जल्द ही शुरू हो जाएगा और हम इसकी रिपोर्ट महाराष्ट्र सरकार को सौंपेंगे। बागुल ने कहा कि इस तरह के निवारक उपायों से ऐसी आपदाओं से होने वाले नुकसान को रोका जा सकेगा।