crime
File Pic

    पिंपरी: पुणे (Pune) समेत राज्यभर में महिलाओं पर अत्याचार की घटनाएं कम नहीं हो रही हैं। पुणे में भी महिलाओं पर अत्याचार की घटनाएं बढ़ती नजर आ रही हैं। पिंपरी-चिंचवड (Pimpri-Chinchwad) से सटे तलेगांव (Talegaon) से एक चौंकाने वाली वारदात सामने आई है। एक युवक ने नाबालिग लड़की के सिर पर हथौड़े से वार कर जानलेवा हमला (Deadly Attack) किया। इस घटना से इलाके में हड़कंप मच गया है। इस बारे में तलेगांव दाभाडे पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है। बताया जा रहा है कि पुलिस में छेड़छाड़ की शिकायत देने के कारण गुस्से में आरोपी ने लड़की पर हथोड़े से वार किया।

    पुलिस ने बताया कि पीड़िता 17 साल की एक लड़की है। लड़की ने कुछ दिन पहले आरोपी शिवम शेलके के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। आरोपी के खिलाफ छेड़छाड़ की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई थी। इसी को लेकर आरोपी ने उसके ऊपर जानलेवा हमला किया। 

    आरोपी ने किया हथौड़े से हमला

    आरोपी ने लड़की के सिर पर हथौड़े से प्रहार करते हुए कहा कि मैं तुम्हें जिंदा नहीं छोड़ूंगा, तुम्हें मार दूंगा। इस घटना में पीड़ित लड़की गंभीर रूप से घायल हो गई। पीड़ित लड़की को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी शिवम शेलके 20 साल का है और तलेगांव दाभाडे का रहने वाला है। इस संबंध में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है और पुलिस आगे की जांच कर रही है। बहरहाल इस घटना से सियासी माहौल गरमा गया है। 

     चित्रा वाघ ने घटना की कड़ी निंदा की 

    भाजपा नेता चित्रा वाघ ने इस घटना की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि तलेगांव में एक नाबालिग लड़की को बार-बार सिरफिरे द्वारा परेशान किया जा रहा था, इस संबंध में थाने में शिकायत दर्ज कराई गई। पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। दिनदहाड़े बाजार में उसने उसके सिर पर हथौड़े से वार किया। पुलिस अगर वक्त रहते कार्रवाई करती तो हमला टल सकता था। चित्रा वाघ ने निष्क्रिय पुलिस के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग की है। वहीं, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के युवा नेता पार्थ पवार ने भी इस घटना की कड़ी निंदा की है और पुलिस के कामकाज को लेकर नाराजगी जताई है।

    शक्ति कानून की अमलबाजी जल्द होने की जरूरत

     

    विधानपरिषद की उपसभापति डॉ. नीलम गोरहे ने कहा कि लड़कियों और महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार चिंता का विषय हैं और ऐसे अपराधों पर जल्द से जल्द अंकुश लगाने के लिए शक्ति अधिनियम की अमलबाजी जल्द से जल्द करना चाहिए। बच्चों को भी परिवार द्वारा पोषित करने की आवश्यकता है। कुछ न मिलने पर बच्चे आक्रामक हो जाते हैं। उस समय माता-पिता को भी बच्चों में संयम और विवेक पैदा करने की जरूरत है। अगर ऐसा नहीं होता है तो जल्द ही शक्ति का कानून लागू किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, तलेगांव थाना क्षेत्र में शिवम शेलके (20) ने गुरुवार को 17 वर्षीय किशोरी के सिर में चाकू मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। उसके खिलाफ युवती ने थाने में प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। पुलिस ने लड़के को हिरासत में ले लिया और उसकी काउंसलिंग की। सभी कानूनी मामलों को पूरा करने के बाद, उसे रिहा कर दिया गया और उसने फिर से वही किया। जैसे ही वह हथौड़े के साथ भाग रहा था, नागरिकों ने उसे पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया।