संपत्ति कर बकायेदारों के खिलाफ PCMC ने की कार्रवाई, एक दिन में 50 फ्लैट सील

    पिंपरी : पिंपरी-चिंचवड महानगरपालिका (Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation) के कराधान और कर संग्रहण विभाग की ओर से बकाएदारों (Defaulters) के खिलाफ जब्ती की कार्रवाई (Action) की जा रही है। शहर के विभिन्न हिस्सों में प्रतिष्ठित सोसायटियों के 50 फ्लैटों को कल एक ही दिन में सील कर दिया गया। इन फ्लैटों के मालिकों के पास 55 लाख रुपए का संपत्ति कर बकाया है। बकाया राशि का भुगतान कर महानगरपालिका का सहयोग कर जब्ती की कार्रवाई से बचने की अपील महानगरपालिका की ओर से की गई है।

    कई संपत्ति मालिक अपना बकाया संपत्ति कर उनकी संपत्तियों को जब्त करने के बाद तत्काल चुका रहे हैं। हालांकि संपत्ति कुर्क होने के बाद भी यह बात सामने आई है कि कुछ लोग टैक्स नहीं दे रहे हैं। ऐसी संपत्तियों की नीलामी की प्रक्रिया महानगरपालिका की स्थायी समिति द्वारा तय और अनुमोदित की गई है। कराधान और कर संग्रहण विभाग के सहायक आयुक्त देशमुख ने यह भी चेतावनी दी है कि, बकाया भुगतान न करने वाले संपत्ति मालिकों की संपत्ति जब्त करने के बाद 21 दिनों के भीतर उनकी संपत्तियों की खुली नीलामी कर दी जाएगी।

    पिंपरी-चिंचवड शहर में 5 लाख 82 हजार संपत्तियां दर्ज है। चालू वित्त वर्ष में अब तक 2 लाख 87 हजार 446 संपत्ति स्वामियों ने 466 करोड़ रुपए का टैक्स चुकाया है। कराधान और कर संग्रह विभाग द्वारा वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए 1000 करोड़ रुपए की कर वसूली का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कम से कम 85 प्रतिशत संपत्ति पर कर लगाया जाना चाहिए। कराधान और कर संग्रहण विभाग ने 50 हजार से अधिक के 26 हजार 760, पांच लाख से अधिक के बकायादार 1361 और एक बार भी संपत्ति कर जमा नहीं करने वाले 3850 कुल 31 हजार 971 बकायेदारों को जब्ती नोटिस जारी किया है। सहायक आयुक्त देशमुख के अनुसार शहर के 3 लाख आवासीय संपत्ति मालिकों पर 583 करोड़ रुपए का कर बकाया है।

    भविष्य में भी बकाएदारों के फ्लैट सील करने का अभियान तेज किया जाएगा

    सहायक आयुक्त नीलेश देशमुख ने इस कार्रवाई की जानकारी देते हुए बताया कि संपत्ति कर महानगरपालिका की आय का मुख्य स्रोत है। हालांकि, शहर के 3 लाख आवासीय संपत्ति मालिकों पर 583 करोड़ रुपए का कर बकाया है। बार-बार कर भुगतान की गुहार लगाने के कारण संपत्ति मालिक कर नहीं दे रहे हैं, ऐसे में महानगरपालिका को उसकी मर्जी के खिलाफ कड़ा रुख अख्तियार करना पड़ रहा है। शहर की प्रतिष्ठित सोसायटियों के 50 फ्लैटों को एक ही दिन में सील कर दिया गया है। भविष्य में भी बकाएदारों के फ्लैट सील करने का अभियान तेज किया जाएगा। इसलिए संपत्ति के मालिक बकाया और चालू वर्ष का टैक्स भरकर महानगरपालिका का सहयोग करें। पिंपरी में एंथिया, रावेत में पंचवटी, रेनबो, वाकड में प्रोबो, वाकड़ में मोंट वर्ट सेविल, पुनावले में सियोना, पिंपले सौदागर में शुभाश्री वुड्स, चिंचवड में लाइफ स्टाइल, माइंडस्पेस रियलिटी क्वीन्स टाउन, तलवडे में देवी इंद्रायणी सोसाइटियों के फ्लैट सील कर दिए गए हैं।